बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओं के साथ साथ अब बेटा पढ़ाओं पर फोकस करें सरकार: मुकेश

छपरा

• पढ़ाई के मामले में बेटों से आगे हैं बेटियां

• शिक्षा वह ताकत है जिसके बदौलत आप सबकुछ हासिल कर सकते हैं

छपरा। बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओं के साथ साथ अब बेटा पढ़ाओं अभियान सरकार को ज्यादा फोकस करने की जरूरत हैं। उक्त बातें सारण के पूर्व राष्ट्रीय खिलाड़ी मुकेश कुमार यादव उर्फ सोनू ने छपरा शहर के श्यामचक स्थित प्राथमिक विद्यालय में बेंच वितरण के दौरान कही। उन्होने कहा कि आजकल समाज में अक्सर देखने को मिल रहा है कि हर मामले में बेटियां बेटों से आगे हैं। पढ़ाई के मामले में भी आज बेटियां आगे हैं। लेकिन लड़के पढ़ाई के मामले में पिछड़ रहें है। आजकल के बहुत सारे युवा सोशल मीडिया और मोबाइल में अपने भविष्य को सीमित कर रखें हैं पढ़ाई में रूचि नहीं ले रहें है। इसलिए सरकार को अब बेटा पढ़ाओं अभियान चलाना चाहिए। मुकेश कुमार यादव उर्फ सोनू ने अपने जुड़वा पुत्रों के जन्मदिन के अवसर पर विद्यालय में बच्चों को बैठने के लिए 5 जोड़ी बेंच भेंट किया। ताकि छात्र-छात्राओं को बैठने में कोई परेशानी न हो।

इस मौके पर उन्होने आमलोगों से अपील किया कि जन्मदिन पर अगर कुछ करना चाहते हैं तो समाज के विकास में अपना योगदान दें और अपने आस-पास के विद्यालय में जरूरत के संसाधन भेंट करें। ताकि बच्चें के पढ़-लिखकर बेहतर समाज का निर्माण कर सकें। उन्होने कहा कि राज्य सरकार के द्वारा शिक्षा को अनदेखी किया जा रहा है। जमीन के अभाव में कई विद्यालयों का कोड समाप्त कर दूसरे विद्यालयों से टैग् कर दिया गया है। सरकार सड़क बनाने के लिए करोड़ों का जमीन खरीद सकती है तो विद्यालय एवं खेल मैदान बनाने के लिए जमीन क्यों नहीं खरीद रही है। मुकेश कुमार उर्फ सोनू ने जनसुराज के सूत्रधार प्रशांत किशोर पर हमला करते हुए कहा कि प्रशांत किशोर समाज में बदलाव की बात कर रहें है और अपनी लग्जरी पद यात्रा पर करोड़ों रूपये खर्च कर रहें है इतना हीं समाज की चिंता है तो क्यों नहीं उसी पैसा से जमीन खरीदकर भूमिहीन विद्यालय बनवा रहें। ताकि हर गरीब का बच्चा पढ़ सके।

संजीवनी समाचार के संस्थाप दिवंगत पत्रकार गुड्डू राय के नाम पर बनी संस्था गुड्डू राय विद्यालय एवं खेल मैदान निर्माण समिति के बैनर तले लगातार शिक्षा एवं खेल में सुधार को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में बुधवार को श्यामचक स्थित प्राथमिक विद़्यालय में बेंच वितरण किया गया।समिति का नारा है पढ़ाई खेलाई ईहे कामे आई।