Saran Commissioner held a meeting regarding Lok Sabha elections, said - ensure preventive action against anti-social elements

लोकसभा चुनाव को लेकर सारण के आयुक्त ने की बैठक, बोले- असमाजिक तत्वों के विरुद्ध निरोधात्मक कार्रवाई सुनिश्चित करें

छपरा बिहार राजनीति

छपरा। सारण के प्रमंडलीय आयुक्त सरवनन एम० की अध्यक्षता में आज आगामी लोकसभा आम निर्वाचन को लेकर की जा रही तैयारियों को लेकर प्रमंडल के सभी जिलों के साथ बैठक की गई।बैठक में सभी जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी -सह- जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक से एक एक कर स्वछ, निष्पक्ष एवं व्यवस्थित निर्वाचन के आयोजन को लेकर बिंदुवार जानकारी ली गई तथा महत्वपूर्ण निदेश एवं सुझाव दिये गये।

आयुक्त ने कहा कि निर्वाचन कार्य पूर्णतः टीम वर्क है। सही नेतृत्व, प्रभावी कम्युनिकेशन एवं कारगर समन्वय के साथ कार्य करने से प्रबंधित ढंग से निर्वाचन का कार्य संपन्न होगा।

उन्होंने मतदाता सूची के सतत अद्यतीकरण, मतदान केंद्र, मतदान प्रतिशत बढ़ाने,विधि व्यवस्था, ईपिक वितरण, डिस्पैच सेंटर , ईवीएम प्लान, शस्त्र सत्यापन, असमाजिक तत्त्वों के विरुद्ध निरोधात्मक कार्रवाई, वल्नेरेबिलिटी मैपिंग, कम्युनिकेशन प्लान, कार्मिक प्रशिक्षण, वाहन की उपलब्धता आदि को लेकर एक एक कर जिलावार जानकारी ली तथा आवश्यक दिशा निदेश दिया।

मतदाता सूची के सतत अद्यतीकरण के तहत सभी फॉर्म 6, 7 एवं 8 का सतत एवं समयबद्ध निष्पादन करने को कहा गया। मतदाता सूची में जेंडर रेशियो के बारे में जानकारी ली गई। अद्यतन मतदाता सूची में जेंडर रेशियो सारण जिला में 913, सिवान में 924 तथा गोपालगंज में 970 बताया गया। उन्होंने सभी जिलों से जेंडर रेशियो में सुधार के लिये की गई कार्रवाई के बारे में जानकारी ली।

विगत निर्वाचन में मतदान प्रतिशत के बारे में जानकारी ली गई। बताया गया कि विगत निर्वाचन में सारण में 54 प्रतिशत, गोपालगंज में 56 प्रतिशत तथा सिवान में 54.68 प्रतिशत मतदान प्रतिशत दर्ज किया गया था। आयुक्त ने मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिये तैयार कार्ययोजना के बारे में जिलावार जानकारी ली। उन्होंने कहा कि प्रत्येक बूथ यूनिक होता है। इस लिये अधिक से अधिक मतदाताओं की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिये मतदाताओं को जागरूक करने के लिये लक्षित स्वीप योजना के आधार पर कार्रवाई की जरूरत है।

न्यूनतम मतदान प्रतिशत वाले मतदान केंद्रों पर विशेष लक्षित स्वीप अभियान एवं इन मतदान केंद्रों की वल्नेरीबिलिटी मैपिंग सुनिश्चित करने को कहा गया। अगर पूर्व में किसी मतदान केंद्र पर किसी विशेष स्थानीय कारण/मांग को लेकर मतदान का बहिष्कार हुआ हो तो, इन जगहों पर इन कारणों को दूर करने के लिये अपेक्षित कार्रवाई का निदेश दिया गया। मतदान से पूर्व निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत मतदाता पर्ची का शत-प्रतिशत वितरण सुनिश्चित कराने का निदेश दिया गया।ईपिक वितरण के संदर्भ में वितरण का रैंडम सत्यापन मतदाताओं से संपर्क कर कराने को कहा गया।
मतदान कर्मियों के डिस्पैच सेंटर को भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित मानक प्रावधान के अनुरूप चिन्हित एवं तैयार करने को कहा गया। निर्वाचन प्रक्रिया समाप्त होने के उपरांत इन केंद्रों को पूर्ववत स्थिति में वापस करने को कहा गया।

विधि व्यवस्था की दृष्टिकोण से जिला के सभी शस्त्र अनुज्ञप्ति के आधार पर शस्त्रों का भौतिक सत्यापन सभी जिलों में सुनिश्चित किया जा रहा है।उन्होंने निर्धारित प्रक्रिया के अनुरूप समयबद्ध ढंग से सतर्कता के साथ शस्त्रों का सत्यापन सुनिश्चित कराने को कहा गया।

असमाजिक तत्वों के विरुद्ध कारगर निरोधात्मक कार्रवाई सुनिश्चित करने को कहा गया। सही व्यक्ति के विरुद्ध नियमानुसार सही कार्रवाई का निदेश दिया गया। सीसीए के तहत भी उपयुक्त तत्त्वों के विरुद्ध कार्रवाई का निदेश दिया गया।

सभी मतदान केंद्रों की भेद्यता का मानचित्रण (वल्नेरीबिलिटी मैपिंग) सेक्टर पदधिकारियों के माध्यम से कारगर तरीके से सुनिश्चित कराने को कहा गया।

सभी जिलों को कारगर कम्युनिकेशन प्लान तैयार करने को कहा गया। सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को ई वी एम वेयरहाउस का संयुक्त निरीक्षण करने को कहा गया।

निर्वाचन कार्य में संलग्न किये जाने वाले पदाधिकारियों एवं कर्मियों के लिये कारगर एवं व्यवस्थित प्रशिक्षण कार्यक्रम तैयार कर प्रशिक्षण की व्यवस्था करने को कहा गया। मल्टीमीडिया के माध्यम से बेहतर प्रशिक्षण सामग्री के आधार पर प्रशिक्षण की व्यवस्था करने को कहा गया।

सभी मतदान केंद्रों पर निर्वाचन आयोग के मानक के अनुरूप न्यूनतम मूलभूत सुविधा की व्यवस्था सुनिश्चित कराने को कहा गया। इसके लिये चेकलिस्ट तैयार कर सभी मतदान केंद्रों का भौतिक सत्यापन सुनिश्चित कराने का निदेश दिया गया।

निर्वाचन कार्य हेतु वाहनों की आवश्यकता का पूर्व से श्रेणी वार आकलन करते हुये कारगर प्रबंधन योजना के आधार पर कार्रवाई को कहा गया। सभी मतदान केंद्रों तक जाने के लिये कारगर रूट प्लानिंग कर उपयुक्त वाहनों की टैगिंग करने को कहा गया।

निर्वाचन कार्य से प्रतिनियुक्त किये जाने वाले अर्द्धसैनिक बलों के आवासन हेतु आवासन स्थल पूर्व से चिन्हित कर आवासन स्थल पर तमाम आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने को कहा गया। इसके लिये चेकलिस्ट तैयार कर सभी चिन्हित आवासन स्थलों का भौतिक सत्यापन कराकर कमियों को दूर करने को कहा गया। अर्द्धसैनिक बलों को अन्य आवश्यक देय संसाधनों की भी ससमय उपलब्धता हेतु पूर्व से तैयारी का निदेश दिया गया।

निर्वाचन कार्य हेतु आवश्यक सामग्रियों की उपलब्धता हेतु दर एवं आपूर्तिकर्त्ता का ससमय निर्धारण निविदा के माध्यम से करने को कहा गया। सामग्रियों की गुणवत्ता की मॉनिटरिंग हेतु भी जिम्मेदारी निर्धारित कर सुनिश्चित कराने का निदेश दिया गया।

बैठक में पुलिस उप महानिरीक्षक श्री विकास बर्मन, जिलाधिकारी सारण श्री अमन समीर, जिलाधिकारी सिवान श्री मुकुल कुमार गुप्ता, जिलाधिकारी गोपालगंज मो० मकसूद आलम,तीनों जिला के पुलिस अधीक्षक, आयुक्त के सचिव डॉ० संजय कुमार, सभी जिलों के उप निर्वाचन पदाधिकारी आदि मौजूद थे।