वीआईपी फार्मेसी में आयोजित सेमिनार में पटना के सुप्रसिद्ध मधुमेह विशेषज्ञ डॉ० हिमांशु माधव ने किया जागरूक

छपरा

छपरा। सारण जिले के छपरा में स्थित एकमात्र सुप्रसिद्व फार्मेसी संस्थान “विवेकानंद इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मेसी” में मधुमेह जागरूकता अभियान कार्यक्रम के अंर्तगत विशेष सेमिनार का आयोजन किया गया। यह आयोजन फार्मेसी इंस्टिटयूट के बी० फार्मा० एवं डी० फार्मा० के प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों द्वारा किया गया। कार्यक्रम के उद्घाटन हेतु मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित पटना रेड क्रॉस सोसाइटी के सुप्रसिद्ध मधुमेह एवं थाइराइड विशेषज्ञ डॉ० हिमांशु माधव एवं छपरा के केमिस्ट एवं ड्रगिस्ट एसोसिएशन के प्रेजिडेंट अभिषेक सिंह को सम्मानित किया गया।

मुख्य अतिथि के कर कमलों द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन वीआईपी ग्रुप के निदेशक सह रिविलगंज प्रखंड प्रमुख डॉ० राहुल राज एवं अध्यक्ष सह पूर्व प्रखंड प्रमुख विपिन कुमार की अध्यक्षता में किया गया। कार्यक्रम का मूल उद्देश्य जनकल्याण हेतु अधिक से अधिक लोगो को बेहतर कल बनाने हेतु शिक्षित करना रहा। मौके पर उपस्थित मुख्य अतिथि डॉ० हिमांशु माधव ने सभी उपस्थित लोगों को मधुमेह तथा थाइराइड से जुड़ी विशिष्ट जानकारियाँ दी।

उन्होंने मधुमेह जैसे रोग के कारण, लक्षण तथा उससे बचाव तथा उसपर किए जाने वाले नियंत्रण से जुड़ी बातें लोगो को बताया। डॉ० हिमांशु माधव प्रत्येक गुरुवार को छपरा के राजेन्द्र कॉलेज गेट के नजदीक सुरक्षा हॉस्पिटल के माध्यम से 10 से 03 बजे तक सेवा प्रदान करते हैं। बी० फार्मा० एवं डी० फार्मा० के प्रथम वर्ष एवं द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों द्वारा कार्यक्रम के अधीन कैम्प लगाया गया, जिसमें आस-पास के ग्रामीणों को आमंत्रित कर उनका ब्लड शुगर जाँच किया तथा इससे सम्बंधित परिणाम की जानकारियाँ भी दी। इतना ही नही उन्होंने इससे सम्बंधित दवाइयों के बारे में भी उन्होंने बताया, परंतु उन्होंने उन्हें यह भी सलाह दिया कि चिकित्सकों से परामर्श लेकर ही दवाइयों का सेवन करें।

मधुमेह जाँच के साथ-साथ उन्होंने ग्रामीणों का बी० एम० आई०, वजन और रक्तचाप भी मापा गया तथा बेहतर स्वास्थ्य बनाने हेतु सलाह दिया गया। निदेशक डॉ० राहुल राज ने कहा कि जानकारी ही बचाव है, कई लोग जानकारी के अभाव में ही चिकित्सकों के पास न पहुँचने के कारण उचित इलाज नही करा पाते हैं जिसका बुरा परिणाम उन्हें भुगतना पड़ता है। अतः इस आयोजन के माध्यम से अधिक से अधिक ग्रामीणो को जागरूक करने का प्रयास किया गया। इस आयोजन के मौके पर विवेकानंद इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मेसी के प्राध्यापक, शिक्षकगण, डी० फार्मा० के छात्र सौरभ राज, विकास कुमार, प्रताप, बी० फार्मा० के छात्र एम० डी० ताहिर, प्रीति आदि कई विद्यार्थी समेत सैकड़ो ग्रामीण लोग उपस्थित थे।