शिक्षक ही हैं राष्ट्र और बच्चों के भविष्य निर्माता: डॉ अनिल

छपरा

छपरा। शिक्षक ही राष्ट्र और बच्चों के भविष्य निर्माता होते है। उक्त बातें छपरा शहर के प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ अनिल कुमार ने श्यामचाक आदर्श कॉलोनी स्थित संजीवनी संस्कार स्कूल के प्रांगण में आयोजित शिक्षक दिवस के मौके पर अायोजित शिक्षक सम्मान समारोह में कही उन्होने कहा कि शिक्षकों का स्थान हमारे समाज में ऊंचा है। शिक्षक ही हमारे बच्चों के भविष्य एवं राष्ट्र के निर्माता हैं। शिक्षकों के बिना समाज राष्ट्र के विकास की कल्पना नहीं की जा सकती। देश में गुरू शिष्य परंपरा को फिर से स्थापित करना होगा। जिससे बच्चों के बेहतर सफल भविष्य के निर्माण शिक्षक अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकें। समाज देश के निर्माण में शिक्षकों का योगदान महत्वपूर्ण है। गुरुओं का जितना सम्मान किया जाए वह कम होगा।

वही इस मौके पर डा विशाल कुमार ने कहा कि एक विद्यार्थी के जीवन में शिक्षक एक ऐसा महत्वपूर्ण इंसान होता है जो अपने ज्ञान, धैर्य, प्यार और देखभाल से उसके पूरे जीवन को एक मजबूत आकार देता है। एक शिक्षक वो व्यक्ति होता है जो अपने विद्यार्थी को सबसे बेहतरीन शिक्षा उपलब्ध कराने के द्वारा प्रत्येक के भविष्य को आकार देता है।

हर विद्यार्थी की शिक्षा में एक शिक्षक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। इसके पहले पूर्व राष्ट्रपति और शिक्षाविद डॉ. राधाकृष्णन सर्वपल्ली के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित किया गया। और केक कटकर सेलिब्रेट किया गया। सभी शिक्षक शिक्षिकाओ को डॉ अनिल कुमार ने अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया। इस सम्मान के लिए सभी शिक्षक शिक्षिकाओ ने डॉ अनिल कुमार के प्रति आभार व्यक्त किया। इस मौके पर एसबीआई बैंक के मुख्य प्रबंधक कुणाल कपूर, शैलेन्द्र कुमार सिंह उर्फ चूल बुल सिंह, स्कूल के प्राचार्य रणजीत भगत, वकील अभय राय, डॉ अनिल कुमार, डॉ विशाल कुमार, शिक्षिका ऋतु ठाकुर, ज्योति सिंह, कमलेश कुमार, चिंटू कुमार, शैलेश कुमार यादव, इत्यादि मौजूद थे।