स्वास्थ्य सेवाओं में बाधा उत्पन्न करने वालों के विरुद्ध कठोर कानूनी कार्रवाई करें: डीएम

छपरा

छपरा : जिलाधिकारी सारण अमन समीर की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षात्मक बैठक समाहरणालय सभागार में शनिवार को आहूत की गयी। बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रशासनिक कार्यकलाप पर प्रमुख रूप से चर्चा की गयी। जिलाधिकारी के द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं में बाधा उत्पन्न करने वालों के प्रति नाराजगी व्यक्त की गयी। उन्होंने आशा कार्यकताओं के हड़ताल के दौरान बच्चों के टीकाकरण, गर्भवती महिला के ईलाज के साथ-साथ सामान्य स्वास्थ्य सेवा से संबंधित कार्यकलाप को बाधित करने को काफी गंभीरता से लिया जिलाधिकारी महोदय के द्वारा बताया गया कि असंवैधानिक कार्यों को करने वाले के प्रति कठोर कानूनी कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। स्वास्थ्य विभाग के कार्यकलाप एवं सेवा को सुचारु ढंग से परिचालन करने हेतु विस्तृत एस.ओ.पी. बनाने पर चर्चा की गयी।

सिविल सर्जन सारण को स्वास्थ्य सेवा के परिचालन हेतु दिये गये निर्देशालोक में एस.ओ.पी अविलंब बनाने हेतु निर्देश दिया गया। विस्तृत एस.ओ.पी. बन जाने के पश्चात स्वास्थ्य सेवा से जुड़े सबों की जबाबदेही तय हो जाएगी। चिकित्सक, ए.एन.एम के सेवा के साथ-साथ ऐम्बुलेंस सेवा, जैसे अनेकों सेवा से संबंधित नियमावली बन जाने के पश्चात सभी अपने कर्तव्यों के प्रति सजग रहेंगे। इससे आम आदमी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा आसानी से उपलब्ध हो सकेगी। अंत में जिलाधिकारी ने बताया कि चिकित्सगणों को अपने प्रशासनिक दायित्वों का भी सफलतापूर्वक निर्वहन करना होगा। यह स्वास्थ्य केन्द्रों को प्रभावी ढंग से चलाने में सहायक होता है।

वे स्वास्थ्य सेवाओं का अनुश्रवण करें एवं अनुशासनहीनता पर कठोर कदम उठायें। ताकि पुनः वे अनुशासनहीनता प्रदर्शित करने का कोई दुःसाहस न करे सके। बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने वाले चिकित्सकों को कायाकल्प पुरस्कार से सम्मानित किया गया। बैठक में उप विकास आयुक्त प्रियंका रानी, सिविल सर्जन सारण जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी चिकित्सकगण एवं जिला के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के साथ अन्य कर्मीगण उपस्थित थे।