सारण में लाखों की आमदनी होने के बावजूद बनाया राशन कार्ड, मुखिया ने डीएम से लिखित शिकायत की

छपरा

छपरा: केंद्र और राज्य सरकार देश के गरीब आर्थिक वर्ग के लोगों के कई तरह की सरकारी सुविधाएँ मुहैया कराती है।इन योजनाओं मे से एक योजना का नाम है पूर्विकता प्राप्त गृहस्थी राशन कार्ड योजना।कोरोना महामारी शुरु होने के बाद से सरकार हर राशन कार्ड होल्डर को मुफ्त में चावल,गेहूं,दाल हर महीने दे रही है। ऐसे में सरकार राशन कार्ड के जरिए लोगों को मुफ्त राशन गरीब कल्याण योजना के तहत दे रहा है।

गड़खा प्रखंड के एक मामला सामने आया है बाजीतपुर पंचायत के मुखिया डीएम से लिखित आवेदन देकर शिकायत किया है केवानी गाँव निवासी संजय कुमार शाही,रंजीत कुमार सिंह व प्राणप्रति देवी सहित कई अपात्र लोगों को मुफ्त राशन की सुविधा राशन कार्ड द्वारा मिल रही है।जबकि सभी कार्डधारक पूर्ण रूप से शक्ति संपन्न लोग है,जिनकी महीने की आमदनी हजारों लाखों रुपये में है।

इसके साथ ही इनके पास कृषि योग्य बीस बिगहा जमीन,चार पहिया वाहन,नौकरी,बिजनेस,बड़ा मकान,दूकान,आई टी आई शैक्षणिक संस्थान आदि होने के बावजूद भी गलत ढंग से राशन कार्ड बनवाकर सरकारी राशन का उपभोग कर रहे है।मुखिया संपत राम राही ने अधिकारी से मिलकर अपात्र लोगों के खिलाफ़ कानूनी कार्रवाई करने की माँग किया है।वही इस संबंध में आपूर्ति पदाधिकारी निरंजन कुमार से पूछे जाने पर बताया कि शीघ्र ही जाँच कर दोषियों के खिलाफ़ कानूनी कार्रवाई करते हुए राशन कार्ड निरस्त किया जाएगा।