छपरा में 15 साल बाद शिक्षिका हुआ तबादला तो बच्चों के आंखों से बहा आंसुओं का सैलाब

छपरा

छपरा। छपरा में टीचर और स्टूडेंट्स के बीच प्यार और लगाव का बेहद खूबसूरत वीडियो सामने आया है। यहां एक शिक्षिका का 15 साल बाद स्कूल से ट्रांसफर हुआ। शिक्षिका की विदाई पर छात्र-छात्राएं अपनी भावनाओं पर काबू न कर सके और फूट-फूटकर रो पड़े। बच्चों के मन में इस कदर प्यार देखकर शिक्षिका के भी आंसू निकल आए। उन्होंने छात्राओं को गले लगाकर चुप कराया और मन लगाकर पढ़ाई करने की सलाह दी। दरअसल यह तस्वीर है सारण जिले के पानापुर प्रखंड के बकवा गांव में संचालित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की।

जहां नयी वार्डेन रेखा कुमारी की पदस्थापना के बाद वार्डेन पद पर कार्यरत प्रखंड शिक्षिका आशा कुमारी गुरुवार को जब अपने मूल विद्यालय के लिए निकली तो छात्राएं फूट फूटकर रोने लगी . छात्राओं की आखों से बहते आंसुओ के सैलाब को देख निवर्तमान वार्डेन आशा कुमारी भी अपने आप को रोक न सकी एवं वह भी रोने लगी .

गुरु शिष्या के इस अगाध स्नेह को देख उपस्थित हर किसी की आंखे नम हो गयी .मालूम हो कि प्रखंड के मध्य विद्यालय रसौली में पदस्थापित शिक्षिका आशा कुमारी मई 2008 में स्थापना काल से ही कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के वार्डेन पद पर पदस्थापित थी .विद्यालय के संचालक कांता राम ने बताया कि आशा कुमारी के योगदान को भुलाया नही जा सकता .