सारण के मशरक नगर पंचायत में लग रहीं स्ट्रीट लाइट में भारी अनियमितता, ग्रामीणों ने जताया विरोध

छपरा

वार्ड पार्षद का आरोप कौन है ठेकेदार, कैसे होंगा रखरखाव

छपरा। मशरक नगर पंचायत क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में लग रहीं स्ट्रीट लाइट के लगानें में भारी अनियमितता सामने आ रही है। जिसका ग्रामीणों ने विरोध करना शुरू कर दिया है। मामला नगर पंचायत के वार्ड -6 पूरब टोला गांव का हैं। बुधवार को ग्रामीणों ने गांव में लग रहीं स्ट्रीट लाइट में अनियमितता को लेकर वार्ड पार्षद सिकंदर कुमार को बंधक बना लिया और अपना विरोध दर्ज कराया। मौके पर वार्ड पार्षद सिकंदर कुमार ने बताया कि स्ट्रीट लाइट उप मुख्य पार्षद प्रतिनिधि अमित सिंह के द्वारा लगाई जा रही थी जो एक ही क्लैम्प पर लगा दी गई जिसका ग्रामीणों ने विरोध किया, वहीं जब वे वार्ड में पहुंचे तो ग्रामीणों ने अपना विरोध प्रकट करते हुए उन्हें बंधक बना लिया।

वार्ड पार्षद सिकंदर कुमार ने बताया कि नगर पंचायत प्रशासन के द्वारा सभी वार्डों में स्ट्रीट लाइट लगाई जा रही पर चेयरमैन सोहन महंतों के द्वारा उनके वार्ड की अनदेखी की जा रही है छोटे छोटे जनसंख्या वाले वार्ड में 100 स्ट्रीट लाइट लगाई गयी हैं वहीं उनके वार्ड की जनसंख्या करीब 2800 हैं फिर भी 100 स्ट्रीट लाइट ही मिली हैं। वे कहां लगाएं समझ नहीं पा रहें हैं वहीं जो स्ट्रीट लाइट लग रही है उसका ठेकेदार कौन है कौन इसका रखरखाव करेगा पता ही नहीं चल पा रहा है। वहीं वार्ड पार्षद सिकंदर कुमार ने बताया कि अभी तक जितनी भी लाइटें लगी है उसमें लाइट छोड़ सभी खर्च पाकेट से ही करना पड़ रहा है। मामले में उप मुख्य पार्षद प्रतिनिधि अमित सिंह से मामले में जानकारी ली गई तो उन्होंने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। वहीं चेयरमैन सोहन महंतों ने कहा कि नगर पंचायत क्षेत्र में सभी इलाकों के पोल पर प्राथमिकता के आधार पर स्ट्रीट लाइट लगाई जा रही है।जय बिहार फाउंडेशन के महेश्वर सिंह और वार्ड 6 पूरब टोला गांव के ग्रामीणो के तरफ से एक क्लैम्प पर ही स्ट्रीट लाइट लगाने की शिकायत कार्यपालक अधिकारी को दर्ज कराई गई थी जिस पर उनके द्वारा संज्ञान लेते हुए सभी लगीं स्ट्रीट लाइट में दो क्लैम्प लगाया जाएगा, वहीं जल्द ही सभी वार्डों में सभी बिजली के पोल पर लाइट लगा दी जाएगी।बता दें कि नगर पंचायत के क्षेत्रों में स्ट्रीट लाइट न होने से रात में अंधेरा रहता है। स्ट्रीट लाइट लगने से लोगों को काफी हद तक राहत मिल सकेगी।