सारण SP रहे संतोष कुमार समेत चार IPS अफसरों को मिलेगा केंद्रीय गृह मंत्री पुलिस पदक

बिहार

पटना।बिहार के चार पुलिस पदाधिकारियों को गृह मंत्रालय के द्वारा केंद्रीय गृह मंत्री पदक के लिए चुना गया है।इनमें चंपारण रेंज के डीआईजी जयंतकांत, एसटीएफ के एसपी संतोष कुमार, शेखपुरा के एसपी कार्तिकेय कुमार और खड़गपुर डीएसपी राकेश कुमार शामिल हैं।इन सभी को अनुसंधान में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए गृह मंत्री का पदक दिया जाएगा। हर साल देश के सभी राज्यों और अलग-अलग पुलिस इकाइयों में बेहतरीन कार्य करने वाले पुलिस पदाधिकारियों को यह पदक दिया जाता है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से इस साल जारी सूची में देश भर के 140 पुलिस पदाधिकारियों के नाम हैं।आईपीएस अधिकारी जयंतकांत को मुजफ्फरपुर में वर्ष 2022 में पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) की साइंस कालेज शाखा के ग्राहकों से पांच करोड़ से अधिक की साइबर ठगी मामले का सफल उद्भेदन करने को लेकर पदक के लिए चुना गया है।

उस समय वह बतौर एसएसपी मुजफ्फरपुर में तैनात थे। वर्ष 2020 में शिवहर जिले के तरियानी थाना क्षेत्र के गांव में बच्ची से दुष्कर्म मामले का 24 घंटे के अंदर पर्दाफाश करने के लिए तत्कालीन एसपी संतोष कुमार और एसडीपीओ राकेश कुमार का चयन पदक के लिए हुआ है।

वहीं, शेखपुरा के बरबीघा में निजी किड्स स्कूल की संचालिका राधिका देवी के एकमात्र पुत्र हर्ष कुमार की हथौड़ी से बेरहमी पूर्वक हत्या मामले को सुलझाने के लिए एसपी कार्तिकेय शर्मा को पुरस्कार दिया जा रहा है। पुलिस मुख्यालय ने सभी पदाधिकारियों को पदक मिलने पर बधाई दी है।