छपरा के विवेकानंद इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मेसी में मनाई गई डॉ० श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती

छपरा

छपरा। सारण का एकमात्र सुप्रसिद्ध फार्मेसी संस्थान विवेकानन्द इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मेसी में संस्थान के सभी सदस्यों के बीच भारतीय जनसंघ के पहले अध्यक्ष डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती मनाई गई। इस मौके पर विद्यालय के निदेशक, रिविलगंज प्रखण्ड प्रमुख सह प्रदेश भाजपा कार्यसमिति सदस्य डॉ० राहुल राज ने डॉ० श्यामा प्रसाद मुखर्जी के तैलीय चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर माल्यार्पण किया। ततपश्चात पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें स्मरण किया।

इस दौरान निदेशक महोदय के साथ-साथ विद्यालय परिवार के सभी शिक्षक, प्राचार्य तथा अन्य सभी कर्मचारीगणो ने भी क्रमानुसार डॉ० मुखर्जी को स्मरण करते हुए पुष्पांजलि अर्पित किया। श्रद्धा सुमन अर्पण के पश्चात डॉ० राहुल राज ने अपने मंतव्यों में कहा कि डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी भारतीय जनसंघ पार्टी के पहले अध्यक्ष रहे हैं, जिनका जन्म 06 जुलाई 1901 को कोलकाता में हुआ था और इनकी मृत्यु 51 वर्ष की आयु में वर्ष 1953 में 23 जून को कारावास में हुई थी, जिस दिन को आज भी भाजपा बलिदान दिवस के रूप में मानती आ रही है। उन्होंने यह भी बताया कि वे एक भारतीय राजनीतिज्ञ, बैरिस्टर और शिक्षाविद भी थे जिन्होंने प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के मंत्रिमंडल में उद्योग और आपूर्ति मंत्री के रूप में कार्य किया। उपस्थित शिक्षको ने अपने सम्बोधन में कहा कि वर्ष 1934 में 33 वर्ष की आयु में, श्यामा प्रसाद मुखर्जी कलकत्ता विश्वविद्यालय के सबसे कम उम्र के कुलपति बने।

इस दौरान विद्यालय परिसर में उपस्थित सभी सदस्यों ने मुखर्जी को याद करते हुए उनके जीवन काल, संघर्ष और बलिदान को याद किया।