गर्मी के मौसम बच्चों में डिहाइड्रेशन होने की संभावना अधिक, बचाव जरूरी: डॉ. एके वर्मा

छपरा स्वास्थ्य

छपरा। गर्मी के मौसम में कई तरह की बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। खासकर बच्चों में इन दिनों डिहाइड्रेशन, उल्टी, दस्त होने की संभावना बढ़ जाती है। इन बीमारियों का कारण दूषित खानपान होता है। इसके लिए खासतौर पर इस मौसम में ध्यान रखना चाहिए। आइये जानते हैं कैसे इस मौसम में बच्चों को बीमारियों से बचाया जा सकता है। छपरा शहर के शिव बाजार स्थित स्कीन एंड चाइल्ड क्लिनिक के नवजात एवं शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. एके वर्मा ने बताया कि गर्मी के मौसम में हाइड्रेटेड रहना बहुत जरूरी है। इसलिए आप इस बात को सुनिश्चित करें कि बच्चों को पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ मिले। ऐसे में स्तनपान करने वाले शिशुओं को बार-बार फीड करवाएं और फॉर्मूला दूध पीने को दें। इसके साथ थोड़े बड़े बच्चों को पर्याप्त मात्रा में पानी पिलाना पर ध्यान दें।

डॉ. एके वर्मा ने कहा कि  गर्मी से बचाव और स्वास्थ्य को बेहतर रखने के लिए आप अपने बच्चे को हल्के, ढीले-ढाले सूती कपड़े पहनाएं। सूती कपड़े सांस लेने लायक होते हैं और पसीने को सोखकर बच्चे को ठंडा रखने में मदद करते हैं।

गर्मी के मौसम में बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए टाइट कपड़े पहनाने से बचें, क्योंकि यह उनकी स्किन पर जलन या रैशेज का कारण बन सकते हैं। इसलिए शिशुओं को हमेशा ढीले-ढाले कपड़े पहनाए, जिससे हवा आसानी से आर-पार हो सके।  गर्मी के मौसम में इन बातों का ध्यान रखकर आप उनके लिए एक सुरक्षित और आरामदायक माहौल बना सकते हैं।