सारण के चतुर्दिक विकास में एडीएम डॉक्टर गगन का अहम स्थान

छपरा

एडीएम के विदाई समारोह में डीएम से लेकर कर्मी तक हुए शामिल

सभी ने एडीएम के काम करने के स्टाइल को सराहा

छपरा। सारण जिले के विकास कार्यों को समय सीमा के भीतर पूरा कराने में एडीएम डॉक्टर गगन की भूमिका अग्रणी रही। इस कारण सूबे में कई योजनाओं में सारण का अव्वल स्थान रहा। बेहतर कार्य कुशलता से राजस्व से संबंधित कई मामलों का अपर समाहर्ता ने बेहतर ढंग से निपटारा किया। अपने दायित्व का भी सही से इन्होंने निर्वाहन किया ,जिसके कारण समय सीमा के भीतर कई महत्वपूर्ण योजनाओं को पूरा किया गया। यह बातें सारण सभागार में एडीएम डॉ गगन के सम्मान में आयोजित विदाई समारोह में जिला पदाधिकारी अमन समीर ने कही।

उन्होंने कहा कि
कई मौके पर एडीएम ने अपनी जिम्मेदारियों का बखूबी पूर्वक निर्वहन किया। डीडीसी प्रियंका रानी ने कहा कि अपर समाहर्ता के पद पर एडीएम का कार्य हमेशा सारण के लोग याद रखेंगे।
एडीएम डॉ संजय कुमार ने भी डॉ गगन के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि वे प्रशासनिक क्षेत्र में नई ऊंचाई को प्राप्त करेंगे। विदाई कार्यक्रम के दौरान कई पदाधिकारियों ने एडीएमके कार्यों की एक स्वर से प्रशंसा करते हुए कहा कि इनके मार्गदर्शन में प्रशासनिक क्षेत्र के कई अनछुए पहलुओं की जानकारी हुई जिससे उनको आगे की नौकरी में काफी सहायता मिलेगी।

इस अवसर पर एडीएम ने कहा कि करीब सवा तीन वर्ष के कार्यकाल में
उन्होंने सारण के विकास को तेज करने के लिए हर संभव प्रयास किया ,जिसमें काफी हद तक सफलता भी मिली। इस सफलता मैं पदाधिकारी से लेकर कर्मी व यहां के लोगों का महत्वपूर्ण स्थान है। सभी ने सहयोग किया, जिसके कारण योजनाओं को पूरा करने में सहायता मिली। सारण से आत्मीय लगाव की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि स्थानांतरण एक सामान्य प्रक्रिया है,

लेकिन सारण के लोगों पदाधिकारियों व कर्मियों ने जो प्यार व स्नेह दिया उसे हमेशा याद रखेंगे। एडीएम के विदाई समारोह के दौरान कई बार ऐसा मौका आया जब पदाधिकारी से लेकर कर्मी तक भावुक हो गए। उनके साथ काम करने वाले कई पदाधिकारियों की आंखें नम हो गई ।पदाधिकारियों ने कहा कि प्रशासनिक क्षेत्र में एडीएम डॉक्टर गगन की कमी हमेशा महसूस की जाएगी।इस अवसर पर जिला स्तरीय पदाधिकारी, सीओ और कई विभागों के कर्मी उपस्थित थे।