The song which gave recognition to Chhapra's daughter Swati Mishra in the country, views crossed 100 million

छपरा की बेटी स्वाति मिश्रा को जिस गाने से देश में मिली पहचान, व्यूज 100 मिलियन पार

छपरा बिहार मनोरंजन

छपरा। कभी-कभी उन हुनरमंद प्रतिभाओं का भी सम्मान कीजिए जो आपके आसपास खुद के दम पर आगे बढ़ रहे हैं जलन होना मानव का नैसर्गिक अवगुण है। स्वाति को जिस गाने से पहचान मिली है वह उनके आईडी से 100 मिलियन के आंकड़े को पार कर चुका है एक मिलियन का मतलब 10 लाख होता है। स्वाति मिश्रा जैसी बेटियां किसी के भी घर में पैदा हो सकती हैं पर यह सौभाग्य है कि यह बिहार के छपरा जिले की बेटी जिन पर सिर्फ छपरा ही नहीं पूरे बिहार को गर्व है।

स्वाति मिश्रा मूल रूप से बिहार के छपरा के माला गांव की रहने वाली हैं।स्वाति मिश्रा का जन्म 14 अगस्त 1996 को छपरा, बिहार में हुआ था। साल 2024 में उनकी उम्र 27 वर्ष है। स्वाति के घर में उनके माता-पिता एक बहन और दो छोटे भाई है।

स्वाति बचपन में अपनी दादी जी के पास बोकारो में रहती थी।स्वाति ने अपनी स्कूल की शिक्षा छपरा के ही स्कूल से पूरी की है। इसके बाद उन्होंने अपने कॉलेज की शिक्षा बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में फैकल्टी ऑफ़ परफॉर्मिंग आर्ट्स में बैचलर ऑफ़ म्यूजिक(Bachelor of Music) की पढ़ाई पूरी की है। इसके बाद उन्होंने मुंबई मास्टर्स इन म्यूजिक (Masters in Music) की पढाई पूरी की है।

स्वाति को बचपन से ही गाना गाने में बहुत रूचि थी। बचपन में जब भी वह टीवी पर गाते हुए किसी को देखती थी, तब वह भी गाना गाने की कोशिश किया करती थी। उन्होंने बचपन में ही मन बना लिया था की वह बड़ी होकर एक गायिका बनेंगी।स्वाति ने अपने माता पिता को अपनी संगीत में रूचि के बारे में बताया। स्वाति के माता पिता ने भी उनकी प्रतिभा को पहचाना और उनका सहयोग किया। स्वाति ने बचपन में संगीत छपरा में अपने गुरु पंडित राम प्रकाश मिश्रा जी से सीखा। फिर उन्होंने आगे संगीत की ही पढाई पूरी की।उनके परिवार में अब तक कोई भी म्यूजिक के बैकग्राउंड से नहीं रहा है। वो अपने परिवार की पहली सिंगर हैं। इस वक्त स्वाति मुंबई में रहती हैं और अपना यूट्यूब चैनल भी चलाती हैं।स्वाति को बचपन से ही सिंगिंग का शौक था। उनके माता-पिता ने इस बात को समझा और परिवार ने संगीत की कोई पृष्ठभूमि ना होने के बावजूद भी उन्होंने अपनी बेटी को संगीत की तालीम दिलाई।

स्वाति बचपन से ही संगीत सिख रही हैं। उनके माता-पिता ने उनकी संगीत की शिक्षा को काफी तवज्जो दी जिसका परिणाम है कि आज देशभर के लोग स्वाति को उनकी आवाज से पहचानते हैं।स्वाति ने यूट्यूब पर एक चैनल स्वाति मिश्रा के नाम से है जबकि एक चैनल स्वाति मिश्रा भक्ति के नाम से है। स्वाति हर तरह के गाने गाती हैं साथ-ही-साथ भक्ति गीत भी बेहद अच्छा जाती हैं।

स्वाति के मेन चैनल पर 590 हजार सब्सक्राइबर्स हैं, जबकि उनके भक्ति चैनल पर 358 हजार सब्सक्राइबर्स और 55 करोड़ से ज्यादा व्यूज हैं। स्वाति के मशहूर भजन “राम आएंगे” को अब तक 44 मिलियन व्यूज मिले हैं।