‘जन-जन की पुकार, तेजस्वी मांगे बिहार’, राजद ने पोस्ट कर सीएम नीतीश पर बोला हमला, मचा हंगामा…

बिहार राजनीति

PATNA: बिहार में सियासी उतार-चढ़ाव देखने को मिला है. सीएम नीतीश ने महागठबंधन सरकार का साथ छोड़कर एनडीए गठबंधन में शामिल हो गए हैं. राज्य में अब एनडीए के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार है। राज्य की राजनीतिक समस्याओं के साथ-साथ आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया है. विपक्ष मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साध रहा है. विपक्ष सीएम नीतीश को झूठा करार देता रहता है. हालांकि, राजद ने सीएम नीतीश को लेकर कोई कड़ा बयान नहीं दिया. इस मामले पर राजद मौन रही. अब राजद ने अपनी चुप्पी तोड़ी है और सीएम नीतीश पर बड़ा हमला बोला है.

दरअसल, राजद ने मुख्यमंत्री नीतीश को लेकर पोस्टर अभियान चलाया है. पोस्टर के जरिए राजद ने अभी सीएम नीतीश से कुर्सी मांगी है. राजद ने इशारों-इशारों में कहा है कि सीएम को सिर्फ कुर्सी की चाहत है और वह कुर्सी पाने के लिए हमेशा दल बदलते रहते हैं. जब नीतीश कुमार को यह विश्वास हो जाता है कि कुर्सी उनसे छिन जाएगी तो वे तुरंत दल बदल कर उस पर बैठ जाते हैं.दूसरी ओर, राजद ने अपने मुद्दे के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए पोस्टरों का इस्तेमाल किया है। राजद ने पटना की सड़कों पर पोस्टर लगाया है. पोस्टर में राजद सुप्रीमो लालू यादव, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव शामिल हैं। वहीं दूसरी ओर सीएम नीतीश की फोटो मौजूद है. उनकी फोटो के दायीं और बायीं तरफ सीटों की तस्वीरें हैं. यह पोस्टर राजद महासचिव बीरेंद्र कुमार, प्रदेश सचिव विनय कुशवाहा और पूर्व नालंदा लोकसभा महागठबंधन प्रत्याशी अशोक कुमार आजाद ने लगाया है.

राजद ने विज्ञापन में दावा किया कि बिहार की जनता तेजस्वी यादव को चाहती है. बिहार की जनता तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाना चाहती है. राजद के पोस्टर पर लिखा है, ”जन-जन की पुकार, तेजस्वी मांगे बिहार”. तेजस्वी यादव की एक बड़ी तस्वीर भी लगाई गई है. सीएम नीतीश को कुर्सी पर बैठे हुए दिखाया गया है और कैप्शन दिया गया है, “नीतीश सिर्फ कुर्सी के हैं”। यह सर्वविदित है कि राजद पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के काम पर जोर देने के लिए पोस्टर का इस्तेमाल करती है. नई सरकार के लिए फ्लोर टेस्ट 12 फरवरी को होगा. इस दिन एनडीए प्रशासन विधानसभा में अपना बहुमत स्थापित कर लेगा.