छपरा से अपहरण किये गए डॉक्टर की पुत्र को पुलिस ने पटना से किया बरामद

छपरा

माँझी। माँझी थाना क्षेत्र के चेंफुल गांव स्थित अपने घर के बाहर खेल रहे सुप्रसिद्ध देसी चिकित्सक डॉ रुस्तम अली के सात वर्षीय पुत्र फरहान अली का शनिवार की सुबह अपहर्ताओं ने अपहरण कर लिया। तथा पहले उसे स्कूटर से एकमा तथा फिर ऑटो से लेकर पटना रफ्फूचक्कर हो गए। घटना की सूचना पाकर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए महज दस घण्टे के भीतर पटना के अगम कुंआ थाना क्षेत्र से बालक को सकुशल बरामद कर लिया।

घटना के सम्बंध में अपहृत बालक के पिता डॉ रुस्तम अली ने बताया कि शनिवार की सुबह उनके दरवाजे पर खेलने के दौरान पड़ोस में रहने वाले बालक के रिश्ते का फुफेरा भाई जीसान अली उनके इकलौते पुत्र को बहला फुसलाकर अपनी स्कूटर पर बिठा लिया तथा एकमा ले जाकर पटना के रहने वाले दो अपहर्ताओं के हवाले कर दिया। घटना की सूचना पाकर माँझी थाना पुलिस तत्काल हरकत में आ गई तथा एकमा के रास्ते में पड़ने वाले सीसीटीवी कैमरों को खंगालकर शक के आधार पर पहले जीसान अली को हिरासत में ले लिया तथा बाद में उसकी निशानदेही पर माँझी थाना पुलिस तथा अगम कुंआ थाना पुलिस ने संयुक्त रूप से छापेमारी कर महज दस घण्टे के भीतर चिकित्सक पुत्र को सकुशल बरामद कर लिया। पुलिस ने पटना में रहने वाले दोनों कथित अपहर्ताओं को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। समाचार लिखे जाने तक बालक पटना के अगम कुंआ थाने में पुलिस की अभिरक्षा में था तथा पुलिस उससे जरूरी पूछ ताछ कर रही थी। बरामदगी के सम्बंध में पूछे जाने पर माँझी के थानाध्यक्ष अशोक कुमार दास ने बताया कि अपहर्ताओं ने प्रारंभिक पूछताछ में बताया है कि फिरौती के लिये मोटी रकम वसूलने के उद्देश्य से उनलोगों ने बालक का अपहरण किया था।

हालाँकि पुलिस की त्वरित कार्रवाई के चलते उनका अभियान विफल हो गया। मिली जानकारी के अनुसार गिरफ्तार अपहर्ता जीसान अली इंजीनियरिंग अंतिम वर्ष का छात्र है तथा कुछ दिनों से आर्थिक तंगी के चलते मोटी रकम की कमाई की जुगत भिड़ा रहा था।