छपरा में चिकित्सक की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की मौत, डॉक्टर समेत कर्मी फरार

क्राइम छपरा

छपरा। छपरा में एक बार फिर एक झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही से प्रसव पीड़ित महिला तथा नवजात की मौत हो गयी है। मौत के बाद डॉक्टर अस्पताल में ताला लगाकर फरार हो गया है। मामला सारण जिले के मढौरा थाना क्षेत्र का है। जहां माँ अम्बे हेल्थ केयर हॉस्पिटल में प्रसव के दौरान एक प्रसूता और बच्चे की मौत हो गयी। डॉ. अनुज कुमार के द्वारा अस्पताल का संचालन किया जा रहा था।

मृत महिला की पहचान सारण जिले के अमनौर थाना क्षेत्र के जाफर हता गांव निवासी मनोज राम की पत्नी रेनु देवी के रूप में की गयी है। घटना के बारे में जानकारी देते हुए मृतका के देवर ने बताया कि 8 फरवरी को मेरी भाभी को पेट में दर्द हुआ।

जिसके बाद मढौरा के निजी अस्पताल माँ अम्बे हेल्थ केयर में भर्ती कराया गया। जहां पर चिकित्सक के द्वारा ऑपरेशन के लिए 50 हजार रूपये की मांग की गयी। 20 हजार रूपये जमा करने के बाद ऑपरेशन किया गया। जहां मृत बच्चा पैदा हुआ। जिसके बाद हमलोग बच्चे के दाह संस्कार के लिए लेकर चले गये।
तभी फोन आया कि रेनु देवी का हालत ज्यादा खराब हो गया है। रेफर कर दिया गया है। अस्पताल के कर्मियों ने खुद एंबुलेंस बुलाकर भेज दिया गया। सदर अस्पताल लाया गया तो पता चला कि महिला की मौत वहीं हो चुकी थी। मौत के बाद चिकित्सक के द्वारा रेफर किया गया। जिसके चिकित्सक और कर्मी अस्पताल छोड़कर फरार है। इस मामले में मढौरा थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है।

जिसके बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए छपरा सदर अस्पताल भेज दिया है। मृतका के परिजनों का आरोप है कि चिकित्सक की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की मौत हुई है। अस्पताल अवैध तरीके से चल रहा है। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को भी लिखित आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की गयी है।