खुशहाल समाज के लिए मातृ व शिशु मृत्यु दर में कमी लाना आवश्यक

छपरा

•परिवार नियोजन के साधनों को अपनाएं

•परिवार नियोजन कार्यक्रम पर पीएसआई इंडिया द्वारा दिया गया प्रशिक्षण
•सेविका-एएनएम के एक दिवसीय उन्मुखीकरण का आयोजन

छपरा,9 मई । स्वस्थ व खुशहाल समाज के लिए मातृ मृत्यु एवं शिशु मृत्यु को कम करना होगा। इसके लिए परिवार नियोजन के साधनों का इस्तेमाल करना होगा। उक्त बातें शहरी अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मासूमगंज के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ हरिनारायण प्रसाद ने कही। उनके अनुसार लोग किसी भी नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में परिवार नियोजन के विभिन्न साधनों की जानकारी लेने के साथ ही सुविधानुसार इच्छित विकल्प का लाभ उठा सकते हैं। बच्चों के बीच समयांतराल रखने और छोटा परिवार के होने से लोग वर्तमान समय में बढ़ रही महंगाई से छुटकारा मिलने के साथ ही जनसंख्या स्थिरीकरण में भी सरकार और देश के सहायक बन सकते हैं।

सरकार द्वारा चलाये जा रहे परिवार नियोजन कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य जनसंख्या स्थिरीकरण के साथ ही प्रजनन स्वास्थ्य को सुदृढ़ करते हुए स्वस्थ परिवार का निर्माण करना भी है। लोगों को परिवार नियोजन के विभिन्न साधनों का इस्तेमाल कर इस अभियान को सफल बनाना चाहिए।

मंगलवार को शहरी स्वास्थ्य केंद्र मासूमगंज में पॉपुलेशन सर्विसेज इंटरनेशनल-इंडिया के द्वारा मासूमगंज के एएनएम और आंगनबाड़ी सेविका के लिए एक दिवसीय उन्मुखीकरण बैठक एवम क्षमता-वर्धन कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसका उद्घाटन प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ हरिनारायण प्रसाद एवम चिकित्सा पदाधिकारी राजीव रंजन के द्वारा किया गया।

परिवार नियोजन के साधनों का उपयोग आवश्यक:

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने कहा कि मासूमगंज शहरी स्वास्थ्य केंद्र में प्रत्येक सोमवार को परिवार नियोजन के साधनों का कैंप लगता है। जहां से योग्य दंपति को परिवार नियोजन के साधनों का उठाव कर लाभ उठाना चाहिए। पीएसआई इंडिया के कार्यक्रम प्रबंधक शिशिर कुमार के द्वारा सभी एएनएम व सेविका को प्रत्येक परिवार नियोजन के साधनों के ऊपर विस्तृत रूप से जानकारी दी गई। उन्होंने यह भी कहा कि प्रत्येक टीकाकरण सत्र पर भी साधन उपलब्ध रहते हैं। जहां से योग्य दंपति को परिवार नियोजन के साधनों का उठाव कर लाभ उठाना चाहिए।

घर भ्रमण कर योग्य दंपति को कैंप आमंत्रित करेंगी सेविका व आशा:

पीएसआई इंडिया के क्षेत्रीय कार्यक्रम समन्वयक जीतेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि सभी सेविका व आशा मिलकर अपने क्षेत्र के सभी योग्य दंपति के घर का भ्रमण करेंगी और उन्हें शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में होने वाले कैंप एवं टीकाकरण स्थल पर लाएंगी। ताकि योग्य दंपति उचित सेवा का लाभ उठा सके। स्वास्थ्य विभाग द्वारा परिवार नियोजन के लिए लोगों को स्थायी व अस्थायी विकल्प की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही ,जो जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में उपलब्ध हैं। स्वास्थ्य केंद्रों में लोगों को इसकी जानकारी देने के लिए आशा, एएनएम आदि नियमित उपस्थित रहती हैं।

जिनसे लोग परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थायी साधनों की जानकारी ले सकते हैं। लोगों को जानकारी होनी चाहिए कि परिवार नियोजन के स्थायी साधनों में नसबंदी व बंध्याकरण शामिल हैं। लोग किसी भी अस्पताल से इसका लाभ उठा सकते हैं। अस्थायी साधन के रूप में लोग अंतरा इंजेक्शन, कॉपर-टी, छाया, माला-एन, इजी पिल्स आदि का उपयोग कर सकते हैं।