सारण में मर चुके वोटरों का नाम शीघ्र डिलीट करने का दिया गया निर्देश

छपरा

छपरा। मृतक का निर्वाचक सूची में नाम होना अक्षम्य त्रुटि है. इसके लिए सजा भी हो सकती है. वोटर लिस्ट में लंबी अवधि से बाहर बसे लोगों के नाम होना, दोहरी प्रविष्टि, विभिन्न मतदाताओं के एक ही फोटो आदि रोग की तरह हैं. जब तक इसे ठीक नहीं किया जाएगा वोट परसेंटेज नही बढ़ेगा. हमें निर्धारित समय के अंदर हर हाल में लिस्ट प्यूरिफिकेशन करना होगा. यह बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य है. उक्त बातें उप निर्वाचन पदाधिकारी जावेद एकबाल ने जलालपुर प्रखंड मुख्यालय में पीएससी, डीएससी कार्य की समीक्षा बैठक के दौरान कहीं. बैठक में प्रखंड के सभी बीएलओ मौजूद थे.

श्री एकबाल ने एक कुशल काउंसलर की भूमिका निभाते हुए अपनी वाक्यपटुता से बीएलओ का उत्साहवर्धन किया और बड़े ही सकारात्मक ढंग से निर्वाचक सूची को दुरुस्त करने के गुर सिखाए. उन्होंने कहा कि अगर प्रत्येक बीएलओ एक घंटा अपनी निर्वाचक सूची की गहनता से अध्ययन कर ले तो उन्हें कार्य करने में सहूलियत होगी. उन्होंने आगे कहा कि डेड इलेक्टर्स का नाम किसी भी परिस्थिति में नहीं रहना चाहिए.

श्री एकबाल ने बीएलओ को निर्वाचन प्रदत्त शक्ति से अवगत कराया और उन्हें उत्कृष्ट कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया. बीएलओ ने भी टारगेट को पूरा करने का संकल्प लिया और पूरे उत्साह के साथ कार्य करने की प्रतिबद्धता जताई. ज्ञात हो कि जिला में बीएलओ की कुल संख्या 3029 है. जबकि जलालपुर में 130 बीएलओ कार्यरत हैं. इस अवसर पर बीडीओ सहित प्रखंड कर्मी उपस्थित थे.