छपरा नगर निगम में ब्लैक लिस्टेड कम्पनी कर रही होल्डिंग टैक्स निर्धारण और कलेक्शन

छपरा

मनमाने ढंग से बेतहाशा टैक्स निर्धारण और धमकी से शहरवासियों में खौफ

बिना निविदा या बोर्ड के प्रस्ताव के दिया गया है ठेका

छपराः नगर निगम क्षेत्र में ब्लैक लिस्टेड निजी कम्पनी होल्डिंग टैक्स वसूल रही है। इस दौरान वह मकानों पर बेतहाशा मनमाना टैक्स निर्धारण कर रही है। उसके कर्मी फाइन की धमकी दे कर जबरन वसूली कर रहे और नागरिकों का दोहन कर रहे हैं। उक्त बातें समाजसेवी हाजी आफताब आलम खान ने कहीं। उन्होंने कहा कि कंपनी के रवैये से लोग मानसिक और आर्थिक रूप से काफी प्रताड़ित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि ‘स्पैरो सोफ्टेक प्राइवेट लिमिटेड’ नामक उक्त कंपनी को पटना नगर निगम ने पूर्व में ब्लैक लिस्टेड किया है।

साथ ही पटना आयुक्त ने कोतवाली थाना में उसके के विरूद्ध लापरवाही, अनियमितता, धोखाधड़ी, सरकारी कार्य में बाधा, राजस्व में क्षति, राजस्व सम्बन्धित सॉफवेयर एप्लिकेशन में छेड़-छाड़ एवं निगम के सम्पत्ति के पोर्टल का सोर्स कोड उपलब्ध नहीं कराने जैसे संगीन मामलों में मुकदमा दर्ज कराया है। आफताब खान ने आश्चर्य व्यक्त किया कि ऐसी दागी, अनुभवहीन और गैरजिम्मेदार निजी कंपनी को छपरा में कार्य कैसे दे दिया गया है। उन्होंने कहा कि हद तो यह है कि उक्त कम्पनी को राजस्व वसूली जैसा महत्वपूर्ण कार्य बिना किसी निविदा के सौंपा गया है। यहां तक कि नगर निगम बोर्ड के किसी बैठक में इसका प्रस्ताव तक नहीं लाया गया है। इस संबंध में श्री खान ने नगर आयुक्त समेत उच्च अधिकारियों को आवेदन देकर शिकायत की है।

आवेदन में उन्होंने उक्त सभी बातों का जिक्र करते हुए कहा है कि ब्लैक लिस्टेड अनुभवहीन निजी कम्पनी को होल्डिंग टैक्स दर निर्धारित करने का अधिकार एवं टैक्स वसूली जैसे महत्वपूर्ण कार्य को सौंप देना सीधे तौर पर अनियमितता एवं भ्रष्टाचार का मामला प्रतीत होता है। उन्होंने इसकी उच्चस्तरीय जाँच कराने की आवश्यकता जताते हुए उचित कार्रवाई की मांग की है जिससे शहरवासियों को बेतहाशा कर बढ़ोतरी से राहत मिल सके।