सेवानिवृत शिक्षिका नीलम कुमारी को दी गई भाविनी विदाई

छपरा

छपरा।  गरखा प्रखंड अनतर्गत उत्क्रमित मध्य विद्यालय फुलवरिया (सारण) में कार्यरत शिक्षिका नीलम कुमारी का अवकाश ग्रहण विदाई समारोह सादगीपूर्ण तरीके से मनाया गया। विद्यालय के सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं, छात्र-छात्राओं, रसोईया एवं अन्य  द्वारा अवकाश प्राप्त वरीय शिक्षिका नीलम कुमारी का भावभिनी विदाई दी गयी। इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाध्यापक मनोज कुमार सिंह ने कहा कि नीलम कुमारी उत्क्रमित मध्य विद्यालय, फुलवरिया में वर्ष-2007 में योगदान किया था।

इनकी योग्यता, वरीयता एवं कार्य कुशलता को देखते हुए वर्ष- 2020 में इन्हें उच्च माध्यमिक विद्यालय, साधपुर में शिक्षण कार्य हेतु पदस्थापन किया गया था। एचएम श्री सिंह ने कहा कि उच्च विचार एवं व्यवहार कुशल शिक्षिका नीलम कुमारी का ससमय विद्यालय आने के साथ बेहतर वर्ग संचालन कार्य अनुकरणीय एवं प्रशंसनीय है। वही विद्यालय के अन्य सभी शिक्षक-शिक्षिका ने नीलम कुमारी का कृतित्व एवं व्यक्तित्वों पर अपने-अपने शब्दों में प्रकाश डालते हुए उनके कार्यों की सराहना की तथा उनकी स्वस्थ एवं दीर्घायु होने की कामना की।

इससे पूर्व विद्यालय के शिक्षक शिक्षिकाओं एवं छात्र- छात्राओं ने अपने स्तर में नीलम कुमारी को धार्मिक पुस्तक, पेन एवं अंग वस्त्र आदि पारितोषिक देकर सम्मानित किया गया। वही विदा होने से पूर्व अवकाश प्राप्त शिक्षिका नीलम कुमारी ने अपने संबोधन में कहा कि नौकरी के दरम्यान विद्यालय परिवार से मिले सहयोग एवं सनेह ताउम्र मुझे याद रहेगा। स्कूल के रिस्पेक्टेट एचएम, टीचर्स, स्टूडेंट्स एवं पैरेंट्स मेरे फैमिली मेंबर के समान रहे हैं।

जिसके लिये आप सबों के प्रति दिल से अभार व्यक्त करती हूँ और सभी का उज्जवल भविष्य की कामना करती हूँ। जाने-अनजाने में मेरी वाणी-व्यवहार से किसी को अगर चोट पहुंची हो तो उसके लिए क्षमा प्रार्थी हूँ। आपलोगों से खासकर छात्र-छात्राओं से जो मेरे बच्चों के समान है। उससे विदा लेने का मन तो नहीं कर रहा है।

लेकिन सरकारी प्रक्रिया है जो नौकरी में है उसे रिटायर करना है। पूरा करना है। विदाई के समय पुरा विद्यालय परिवार गमगीन हो गया। इस अवसर पर शिक्षक श्यामबहादुर राम, मंगरू सिंह, चन्देश्वर महतो, उषा देवी, अमरावती कुमारी, रामलखन यादव, चन्दन सिंह, मृत्युंजय सिंह, डॉ कपीस कुमार सिंह, प्रीतम सिंह, शेखर सिंह, विकास कुमार, जूली कुमारी,जया कुमारी,पुजा कुमारी आदि दर्जनों लोग उपस्थित थे।