All ration card holders of Saran will get free treatment facility up to Rs 5 lakh.

सारण के सभी राशन कार्ड धारकों को मिलेगी 5 लाख तक का निःशुल्क इलाज की सुविधा

छपरा बिहार
  • प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत 2, 22, 573 लाभुकों का बनाया गया कार्ड
  • आयुष्मान के साथ अब मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का भी मिलेगा लाभ: डीपीसी

छपरा। ज़िले के वैसे राशन कार्डधारी जिनका नाम प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के लिए शार्ट लिस्ट नहीं हुआ या अन्य किसी कारणों से इस योजना का लाभ नहीं ले पा रहे हैं, तो वैसे लोगों के लिए खुशखबरी है। जिसको लेकर आयुष्मान भारत के जिला योजना समन्वयक (डीपीसी) नीरज कुमार ने बताया कि इस योजना के तहत अब जिले के 5 लाख 31 हजार 256 परिवार के 28 लाख 95 हजार 434 लोगों को योजना का लाभ मिलेगा। जिसमें 2 लाख 22 हजार 573 लोगों का अब तक कार्ड बनाया जा चुका है। लेकिन अब प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तर्ज पर ही जिले में अब मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना शुरू होने जा रही है। इसके तहत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से वंचित राशन कार्ड धारकों को इस योजना से जोड़ा जाएगा। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की तर्ज पर ही 2013 खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत वैसे राशन कार्ड धारी जिनको 2013/14 से राशन कार्ड की सुविधा प्राप्त है, को इसका लाभ मिल मिलेगा। अगर किसी लाभुक को किसी कारणवश प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ नहीं मिला है, उन लोगों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ उपलब्ध कराया जाएगा।

जिले का एक भी व्यक्ति आयुष्मान कार्ड से वंचित नहीं रहेगा: सिविल सर्जन
सिविल सर्जन डॉ सागर दुलाल सिन्हा ने बताया कि आगामी 2 मार्च से सारण ज़िला अंर्तगत सभी पीडीएस (राशन दुकानदार) पर सभी राशन कार्डधारी परिवारों को 5 लाख रुपये तक का मुफ़्त ईलाज की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए राशन कार्डधारी परिवार के सभी सदस्यों का आयुष्मान कार्ड बनाया जाना है। उक्त विशेष अभियान के दौरान शत प्रतिशत राशन कार्डधारी परिवार के सदस्यों का आयुष्मान कार्ड बनाया जाना है। जिले के सभी पीडीएस /एफपीएस पर कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के वीएलई या ऑपरेटर को टैग किया जा रहा है। उन्होंने यह यह भी बताया कि अंत्योदय योजना के तहत राशन कार्ड बनता है। इस दोनों राशन कार्डधारियों का आयुष्मान कार्ड बनाया जाना है। जिले का एक भी व्यक्ति आयुष्मान कार्ड से वंचित नहीं रहेगा। हालांकि कार्ड बनाने के लिए सरकार द्वारा सीएससी संचालकों को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है। जनवितरण प्रणाली विक्रेता के यहां कैंप लगाकर वंचित लाभुकों का सीएससी संचालक आयुष्मान कार्ड बनाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने यह भी बताया कि आयुष्मान कार्ड धारक साल में पांच लाख खर्च तक इलाज निःशुल्क करा सकता है। हालांकि किसी भी व्यक्ति के पास राशन कार्ड है, तो उसके परिवार के सभी सदस्यों को आयुष्मान भारत के तहत इलाज का लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना की सूची में अगर किसी का नाम नहीं होगा, तो उस राशन कार्ड धारी का सीएम आरोग्य योजना के तहत कार्ड बनाया जाएगा।