18 लाख रुपए लिया था दहेज पर नहीं मिटी थी भूख, 3 महीने में पति व ससुराल वालों ने सुला दिया मौत की नींद

छपरा

छपरा। आज दहेज हत्या एक अभिशाप ही नहीं दीमक की तरह हमारे समाज को खोखला कर रहा है. सरकार के लाख प्रयास और दहेज कानून के बावजूद भी दहेज हत्याओं का दौर बदस्तूर जारी है. दहेज हत्या पर लगाम लगा पाना शायद मुश्किल साबित हो रहा है. ताजा मामला पुनः सारण जिले के मांझी थाना अंतर्गत नचाप गांव से सामने आया है. जहां, महज 3 महीने में ही दहेज की वेदी पर नवविवाहिता को चढ़ा दिया गया.

मृत नव विवाहित जिले के मांझी थाना अंतर्गत नचाप गांव निवासी रमण कुमार सिंह की 24 वर्षीय पत्नी स्नेहा कुमारी बताई गई है, जो कि एकमा थाना क्षेत्र के आमदाढी कर्णपुरा गांव निवासी पूर्व मुखिया ओमप्रकाश सिंह की पुत्री थी. ससुराल वालों ने गला दबाकर उसकी हत्या के बाद शव को ठिकाने लगाने का प्रयास किया. लेकिन, गांव वालों के द्वारा इस घटना की सूचना विवाहिता के मायके वालों को दे दी गई.

सूचना के बाद उसके पिता व परिवार वाले वहां पहुंचे तो देखा कि वे लोग दाह- संस्कार की तैयारी कर रहे हैं. पूछने पर उन लोगों के द्वारा बताया गया कि अचानक तबीयत खराब हुई और उसकी मृत्यु हो गई. लेकिन जब लड़की के मायके वालों ने उसके शव को देखा तो पाया गया कि गले पर जख्म के काले निशान थे. जिसके बाद उनको यह समझते देर नहीं लगी कि गला दबाकर उसकी हत्या की गई है.

जिसके बाद उन लोगों के द्वारा इस घटना की सूचना मांझी थाना पुलिस को दी गई. पुलिस को सूचना दिए जाने के बाद उसका पति वह ससुराल वाले घर छोड़कर फरार हो गये. वहीं सूचना के बाद मौके पर पहुंची मांझी थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा की प्रक्रिया प्रारंभ करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए छपरा सदर अस्पताल भेजा, जहां शव का पोस्टमार्टम कराये जाने की प्रक्रिया की जा रही है. वही समाचार प्रेषण तक इस मामले में नामजद प्राथमिकी दर्ज कराये जाने की प्रक्रिया चल रही थी

क्या कहते हैं परिवार वाले

छपरा सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम के दौरान मृत नवविवाहित के पिता और परिवार वालों ने बताया कि स्नेहा पढ़ने में काफी तेज और होनहार थी. एमएससी जूलॉजी ऑनर्स करने के बाद उसे शादी के बंधन में जोड़ा गया. उन लोगों ने 18 लाख रुपए नगद एवं दान-दहेज के साथ उसकी शादी 30 नवंबर 2023 को मांझी थाना क्षेत्र के नचाप गांव निवासी डीलर उपेंद्र सिंह के पुत्र रमण कुमार सिंह के साथ हिंदू रीति-रिवाज से की थी. उसका पति डाक विभाग में कार्यरत है. शादी के बाद उनकी डिमांड भी लगातार जारी रही. बीते दिन पूछे जाने पर उन लोगों के द्वारा बताया गया कि उसकी तबीयत थोड़ी खराब है. तब उन लोगों ने कहा कि हम लोग आकर उसे किसी अच्छे चिकित्सक से दिखला देते हैं. लेकिन उन लोगों ने कहा कि नहीं अभी कुछ सुधार है और आज उन लोगों के द्वारा पूछने पर बताया गया कि अचानक उसकी मौत हुई है. जबकि उसके गले पर जख्म के काले निशान है. जिससे प्रतीत होता है की गला दबाकर ही उसकी हत्या की गई है. फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है.