सेक्सुअल राइट पर लोगों को जागरूक रही 17 साल की जाह्नवी, राष्ट्रपति ने बढ़ाया हौसला

बिहार

बिहार डेस्क। मुजफ्फरपुर के कटरा प्रखंड के अम्मा गांव की रहने वाली जाह्नवी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से राष्ट्रपति भवन में मुलाकात कर अपने काम के बारे में बताया. राष्ट्रपति ने जाह्नवी से तकरीबन 12 मिनट बात की और उसके काम की सराहना की. आपको बता दें कि जाह्नवी सेक्सुअल राइट और पीरियड्स के विषय पर काम करने वाली महज 17 साल की लड़की है. जाह्नवी की पूरे देश में तब पहली बार चर्चा हुई थी, जब उसने आंखों पर सेनेटरी पैड डालकर अपना फोटो खिंचवाया और लोगों से लैंगिक अधिकार के विषय पर खुलकर बात करने का अपील की.

जाह्नवी बताती है कि विगत दिनों राष्ट्रपति से मिलकर अपने काम के बारे में उन्हें बताने का अवसर मिला. इस दौरान राष्ट्रपति ने बड़ी गंभीरता से उसकी बातों को सुना और उसके कार्यों की प्रशंसा की. बकौल जाह्नवी, राष्ट्रपति ने कहा कि आगे अपने काम को निरंतर जारी रखें. उन्होंने बताया कि आज भारत को ऐसे काम और ऐसे ही लोगों की सबसे ज्यादा जरूरत है. जाह्नवी का कहना है कि राष्ट्रपति ने जिस तरह से उसका उत्साह बढ़ाया है, इससे उसे और ऊर्जा मिली है. आगे वह और बढ़िया से काम करेंगी.

जाह्नवी के पिता संतोष कुमार ने बताया कि राष्ट्रपति से पूरे परिवार समेत मुलाकात करना उनके लिए गौरव का पल था. जाह्नवी के साथ-साथ उनकी माता और पिता दोनों ही राष्ट्रपति से मिलने गए थे. संतोष कुमार कहते हैं कि जाह्नवी ने जब सेक्स और पीरियड पर चर्चा की शुरुआत की, तो लोगों ने इसकी बहुत आलोचना की. लड़की होकर सेक्स और पीरियड की बात करने पर लोगों ने बहुत ताने दिए. लेकिन आज यही जाह्नवी की पहचान है. संतोष कुमार का कहना है कि उन्हीं मुद्दे पर काम करने को लेकर जाह्नवी आज विश्व में अपने काम के बदौलत जानी जाती है. अब तो आलोचना करने वालों का भी नजरिया बदल गया है.