सारण जहरीली शराबकांड में मानवाधिकार की टीम जाँच के लिए पहुंची, पूर्व RJD MLA बोले- संवैधानिक संस्थाओ का हो रहा दुरूपयोग

खेल

छपरा। छपरा जिले के मसरख जहरीली शराब का घटना देश में चर्चा हो रहा है। मीडिया के माध्यम से पता चला है कि मानव अधिकार टीम आ रहा है। मानव अधिकार टीम वहीं जांच करने जाता है जहां मानव अधिकार का उल्लंघन हुआ हो। मशरख का कांड जहरीली शराब पीने से हुआ है जो मानव अधिकार का उल्लंघन नहीं है। ऐसी स्थिति में मानव अधिकार का आना असंवैधानिक है। जहां-जहां राज्य में केंद्र विरोधी सरकार है।

वहां संवैधानिक संस्थाओं के माध्यम से परेशान किया जाता है। बंगाल में सीबीआई का दुरुपयोग हुआ। वही झारखंड में राज्य भवन एवं चुनाव आयोग का दुरुपयोग किया जा रहा है। वहीं बिहार में मानव अधिकार के टीम को भेजवाकर राज्य सरकार को बदनाम करने की साजिश की जा रही है। इससे देश में सीधा प्रजातंत्र समाप्त हो रहा है। बिहार की जनता इसे कभी बर्दाश्त नहीं करेगी, अगर केंद्र सरकार इस तरह के गलत कार्यो पर रोक नहीं लगाई तो हमलोग सड़क पर उतर कर संघर्ष करेंगे, प्रजातंत्र पर हमला बिहार के जनता को कभी स्वीकार नहीं होगा।