छपरा में नगर निगम क्षेत्र के सैकड़ों अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय वोटरों का नाम दूसरे वार्ड में किया शामिल

छपरा

छपरा। छपरा नगर निगम चुनाव में अधिकारियों का नया कारनामा सामने आया है जहां, बूथ लेवल अधिकारियों की मिलीभगत से वार्ड नंबर 03 के सैकड़ों अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय के लोगों का नाम काटकर वार्ड नंबर 01 में जोड़ दिया गया है। इस मामले में हाजी आफताब आलम खान के द्वारा बिहार राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सहित सारण जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी एवं अनेकों वरीय पदाधिकारियों को ज्ञापन भी सौंपा गया है।

ज्ञापन के माध्यम से हाजी आफताब द्वारा बताया गया है कि वे लोग वार्ड संख्या 03 के परिसीमन अन्तर्गत वार्ड संख्या 03 के स्थायी निवासी है एवं बिहार नगरपालिका आम निर्वाचन नामावली 2017 के चुनाव में वार्ड संख्या 03 के मतदाता सूचि में भी उन सभी लोगों का नाम दर्ज है।

वार्ड संख्या 03 एवं वार्ड संख्या 01 के कुछ वार्ड प्रत्याशियों द्वारा साज़िश के तहत बूथ लेवल अधिकारी एवं आंगनबाड़ी सेविका से मिलीभगत कर छपरा नगर निगम के वार्ड संख्या 03 के कुल 699 मुस्लिम अल्पसंख्यक मतदाताओं का नाम वार्ड संख्या 03 से कटवाकर वार्ड संख्या 01 मैं जोड़ दिया गया है. जिस कारण बहुत सारे मुस्लिम अल्पसंख्यक समुदाय के जनप्रतिनिधि चुनाव लड़ने से वंचित हो गए हैं साथ ही इससे अनेक अल्पसंख्यक मतदाता भी मतदान करने से वंचित हो जाएंगे।

साज़िश के तहत इतनी बड़ी संख्या में वार्ड संख्या 03 के अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय के लोगों का नाम काट कर वार्ड संख्या 01 में जोड़ कर अल्पसंख्यकों के चुनाव लड़ने एवं मतदान के अधिकार से वंचित करना एक गंभीर अपराध माना जाएगा, जो कि जांच का विषय भी है। अधिकारियों द्वारा वार्ड संख्या 03 के परिसीमन का सर्वे करा कर भी देखा जा सकता है। ज्ञापन के माध्यम से आफताब आलम खान ने माँग किया है कि वार्ड संख्या 03 के सभी मुस्लिम अल्पसंख्यकों का नाम वार्ड संख्या 01 से काटकर पुनः वार्ड संख्या 03 में जोड़ा जाए एवं सभी दोषी बूथ लेवल अधिकारियों आँगनबाड़ी सेविकाओं एवं अन्य दोषी लोगों पर जाँच करते हुए कठोर कारवाई की जाय। जिससे अल्पसंख्यकों को न्याय मिल सके।