सारण में चापाकलों की मरम्मती के लिये प्रत्येक प्रखंड के लिये टीम रवाना

छपरा

छपरा। लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी आगामी गर्मी के मद्देनजर चापाकलों की मरम्मती हेतु अभियान चलाया जा रहा है।

इस अभियान के तहत सभी बीस प्रखंड के लिये एक-एक मरम्मती दल, कुल 20 मरम्मती दलों को अलग अलग वाहनों से जिलाधिकारी अमन समीर द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

आगामी दो महीनों तक यह मरम्मती दल सम्बद्ध प्रखंड एवं पंचायतों में आवश्यकतानुसार चापाकलों की मरम्मती सुनिश्चित करेगा। इसके अतिरिक्त भी आवश्यक होने पर मोटरसाइकिल से अतिरिक्त मरम्मती दल को भी भेजने हेतु तैयारी की गई है।
कार्यपालक अभियंता पीएचईडी द्वारा बताया गया है कि सारण जिला में कुल चापाकलों की संख्या 32492 है। इनमें 13323 चापाकल IM-II/III श्रेणी के हैं जो 60-80 फिट भू-जल स्तर तक कार्य करते हैं। 19169 चापाकल सिगूर/साधारण श्रेणी के हैं, जो 25 फिट भू-जल स्तर तक ठीक ठाक काम करते हैं।

फरवरी माह के अंत में जिला का औसत भू-जल स्तर 13′-05″ दर्ज किया गया है। अधिकतम औसत भू-जल स्तर सोनपुर में 17 फिट एवं न्यूनतम औसत भू-जल स्तर तरैया प्रखंड का 11′-03″ दर्ज है।
लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। नियंत्रण कक्ष के दूरभाष संख्या 06152-244791 पर कार्यालय अवधि में कोई भी व्यक्ति खराब चापाकलों के बारे में जानकारी/सूचना दे सकते हैं।