सारण के सभी ग्रामीण वार्डों में लगेगा सोलर स्ट्रीट लाइट

छपरा

छपरा। जिलाधिकारी अमन समीर ने मुख्यमंत्री ग्रामीण सोलर स्ट्रीट लाइट योजना एवं हर घर नल का जल योजना के अद्यतन प्रगति एवं क्रियाशीलता की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ग्रामीण सोलर स्ट्रीट लाइट योजना के संदर्भ में बताया गया कि सभी ग्रामीण वार्डों में चरणबद्ध ढंग से 10-10 सोलर स्ट्रीट लाइट लगाया जाना है। इस कार्य हेतु जिला में तीन एजेंसी को प्राधिकृत किया गया था। इसमें से एक ऐजेंसी कार्य से हट गई है। शेष कार्यरत दो एजेंसियों द्वारा अबतक 1240 सोलर स्ट्रीट लाइट का अधिष्ठापन किया गया है।

जिलाधिकारी ने एजेंसी के प्रतिनिधि को अपनी पूर्ण क्षमता के अनुरूप प्रतिदिन सोलर स्ट्रीट लाइट लगाने का निदेश दिया। जिला पंचायत राज पदाधिकारी को दोनों एजेंसी के वेयरहाउस की जाँच सुनिश्चित करने को कहा गया। साथ ही एजेंसी द्वारा सोलर स्ट्रीट लाइट के अधिष्ठापन के 7 दिनों के अंतर्गत आवश्यक जाँच की प्रक्रिया पूरी कर संबंधित एजेंसी को भुगतान सुनिश्चित कराने को कहा गया।

नल का जल की समीक्षा के क्रम में कार्यपालक अभियंता पीएचईडी द्वारा बताया गया कि पूर्व से पीएचईडी के 804 वार्डों के अतिरिक्त पंचायतीराज विभाग से क्रियान्वित 3373 वार्डों की योजनाओं को मेंटेनेंस हेतु अधिग्रहित किया गया है।

पंचायतीराज विभाग से हस्तानांतरित योजनाओं में से 1750 पूर्ण रूप से क्रियाशील तथा 1285 योजनायें आंशिक रूप से क्रियाशील थीं। जिलाधिकारी ने आंशिक रूप से क्रियाशील शत प्रतिशत योजनाओं को 31 मार्च तक पूर्ण रूप से क्रियाशील करने का निदेश दिया। बताया गया कि 871 योजनाएं बंद हालात में पीएचईडी को मिली थी।इनमें से 635 योजनाओं में लघु मरम्मती का कार्य कराकर उन्हें क्रियाशील किया गया।अन्य लघु मरम्मती योग्य योजनाओं को भी 31 मार्च तक अनिवार्य रूप से क्रियाशील करने का स्पष्ट निदेश कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को दिया गया। साथ ही वृहत मरम्मती की आवश्यकता वाली योजनाओं का डीपीआर तैयार करने को कहा गया।

उपविकास आयुक्त को 15 दिनों के अंतर्गत कनीय अभियंता वार योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा करने को कहा गया।
जिलाधिकारी ने नल जल योजना से संबंधित शिकायतों का निपटारा प्राथमिकता से करने का निदेश दिया। बताया गया कि जनवरी माह से अबतक नल जल की योजना से संबंधित 291 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिनमें से 263 शिकायतों का समाधान किया गया है।

नल जल योजना के क्रियान्वयन से संबंधित किसी भी तरह की शिकायत इन दुरभाष संख्या पर दर्ज की जा सकती है:-
टॉल फ्री नम्बर:- 18001231121
जिला नियंत्रण कक्ष:- 06152-244791
जिलाधिकारी ने पंचायतवार वाटर टेबल की नियमित मोनिटरिंग सुनिश्चित करने का निदेश दिया।
बैठक में उपविकास आयुक्त, जिला पंचायतराज पादधिकारी, कार्यपालक अभियंता पीएचईडी, सोलर स्ट्रीट लाइट एजेंसी के प्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।