बिहार में बंदूकें धधक रही हैं! नालंदा और सासाराम में उपद्रवियों ने मचाया उत्पात.

क्राइम नालंदा बिहार

नालंदा और सासाराम में अपराधियों ने बेखौफ होकर लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी है. नालंदा के सरमेरा थाने के गौसनगर गांव में जमीन विवाद में एक बुजुर्ग की हत्या कर दी गई. सासाराम के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के डुमरिया गांव में आपसी रंजिश में एक युवक की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई.

बिहार में एनडीए सरकार बनने के बाद भी अपराध दर में कमी नहीं आई है. इसी क्रम में मंगलवार (6 फरवरी) को प्रदेश भर के विभिन्न इलाकों में बदमाशों ने आतंक मचाया. नालंदा और सासाराम में अपराधियों ने बेखौफ होकर लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी है. नालंदा जिले के सरमेरा थाना क्षेत्र के गौसनगर गांव में मंगलवार (6 फरवरी) की देर रात जमीन विवाद में हुई गोलीबारी में एक बुजुर्ग की मौत हो गई. रामाश्रय यादव का शंकर केवट और दिलीप राउत से छह कट्ठा जमीन को लेकर 2011 से विवाद चल रहा है.

जानकारी के मुताबिक, जमीन विवाद को लेकर शंकर केवट और दिलीप राउत शराब के नशे में धुत होकर रामेश्वर यादव के घर में घुस गये और घर के अन्य सदस्यों के साथ मारपीट करने लगे. जब रामाश्रय यादव ने अपने परिवार के सदस्यों को पिटते हुए देखा तो उन्होंने हस्तक्षेप करने का प्रयास किया। इसी दौरान शंकर केवट और दिलीप राउत ने रामाश्रय यादव पर गोली चला दी. जिससे दो गोली रामाश्रय यादव की गर्दन में लगी. इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी.

मृतक के बेटे के मुताबिक, इस जमीन विवाद को लेकर पहले भी मारपीट की घटनाएं हो चुकी हैं. घटना की सूचना मिलते ही सरमेरा थाने के अधिकारी मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बिहारशरीफ सदर अस्पताल पहुंचाया और मामले की जांच शुरू कर दी. सासाराम के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के डुमरिया गांव में आपसी रंजिश में एक युवक की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई. मृतक बारात देखने के लिए गांव गया था। इसी वक्त यह घटना घटी. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है.

हत्या का आरोप टोले के कुछ दबंग लोगों पर लगा है. बताया जाता है कि गांव में बारात आयी थी. मरने वाले धर्मराज राम व अन्य लोग बारात देखने गये थे. इसी बीच पुरानी रंजिश को लेकर गांव के ही कई लोगों ने युवक धर्मराज राम को बुलाया और पांच गोली मार दी. आपको बता दें कि दिवंगत धर्मराज राम की शादी पिछले साल हुई थी. वह शिवराम का पुत्र था। इस घटना से गांव में काफी तनाव पैदा हो गया है.