सड़क सुरक्षा माह अभियान के तहत जागरुकता रथ को डीएम ने दिखाई हरी झंडी

छपरा

छपरा जिलाधिकारी सारण अमन समीर के द्वारा जिला परिवहन विभाग के तत्वाधान में आयोजित सड़क सुरक्षा माह अभियान के तहत जागरुकता रथ को सारण समाहरणालय परिसर से हरी झंडी दिखाकर बुधवार को रवाना किया। इस अवसर पर जिला परिवहन पदाधिकारी, मोटर यान निरीक्षक, जिला परिवहन कार्यालय के सभी कर्मियों के साथ समाहरणालय के कर्मीगण उपस्थित थे। इस अवसर पर जिलाधिकारी के द्वारा बताया गया कि पूर्व की वर्षा की भांति इस वर्ष भी सड़क सुरक्षा माह का आयोजन किया गया है। जो 14 फरवरी 2024 तक अभियान की तरह मनाया जाएगा।

इस अभियान के दौरान जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, स्वास्थ्य शिक्षा, विद्यालय, महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं, पथ निर्माण, नगर निकाय, परिवहन संघ से जुड़े वाहन विक्रेताओं, वाहन प्रशिक्षण स्कूल, आटोमोबाईल एसोसिएशन, स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ-साथ आमलोगों की सहभागिता सुनिश्चित की जा रही है। जिलाधिकारी के द्वारा बताया गया कि इस वर्ष सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा भारत पोर्टल का वेबपेज विकसित किया गया है। जिसपर राज्य एवं जिलास्तर पर सड़क सुरक्षा से संबंधित होने वाले गतिविधियों को अपलोड किया जा रहा है। जिलाधिकारी के द्वारा बताया गया कि सड़क सुरक्षा माह के अंतर्गत विभिन्न तरह की जागरुकता गतिविधियों को आयोजन किया जाएगा।

सरकारी कार्यालयों के पदाधिकारी एवं कर्मी, सरकारी एवं निजी विद्यालयों एवं महाविद्यालयों के छात्र-छात्राओं के द्वारा यातायात नियमों के अनुपालन हेतु शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया जाएगा। वाहन चालक प्रशिक्षण, रिफ्रेशर कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। नुक्कड़ नाटक एवं अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से दुर्घटना में पीड़ितों के बचाव हेतु आमलोगों को प्री हॉस्पीटल प्रशिक्षण कराया जाएगा। जिला, अनुमंडल एवं प्रखंड स्तर पर सभी सरकारी अस्पतालों एवं जिला समाहरणालय, अनुमंडल कार्यालय एवं थानों में गुड सेमेरिटन (अच्छे मद्दगार व्यक्ति) से संबंधित प्रावधानों एवं नियमों को व्यापक रुप से प्रचार-प्रसार किया जाएगा। माइकिंग के माध्यम से सड़क सुरक्षा हेतु जागरुकता का आयोजन होगा।कार्यक्रम के अंतर्गत विशेष वाहन जाँच अभियान चलाकर सड़क दुर्घटना के बचाव हेतु सुरक्षा के सभी उपायों की जानकारी दी जाएगी। इस अभियान में हेलमेट, सीट बेल्ट, गलत दिशा में वाहन चलाने के दुष्प्रभाव की जानकारी दी जाएगी। साथ की बाईक चलाते समय राईडर एवं पीलियन राईडर दोनों के लिए हेलमेट की अनिवार्यता सुनिश्चित की जाएगी। सड़क सुरक्षा हेतु जागरुकता रैली, एम्ब्रेला मार्च, पैदल मार्च एवं मैराथन का आयोजन किया जाएगा। साथ ही विद्यालय, महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं के बीच सड़क सुरक्षा संबंधी पेंटिंग, स्लोगन एवं क्वीज प्रतियोगिता का आयोजित किया जाएगा।

वॉल पेटिंग, ट्रैफिक गेम, प्रदूषण फिटनेस कैम्प का आयोजन, रोको-टोको अभियान, नेत्र एवं स्वास्थ्य जाँच शिविर, चौक- चौराहे पर सड़क सुरक्षा का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाएगा।जिलाधिकारी के द्वारा बताया गया कि इसके अलावे सड़क संबंधी संभावित दुर्घटना से बचाव हेतु जिला के चिन्हित दुर्घटना स्थलों पर लघुकालिक परिमार्जन के उपाय, संधि स्थलों पर ट्रैफिक कॉमिंग मेजर्स, रोड साईनेज एवं लेन मार्किंग, क्षतिग्रस्त क्रैश बैरियर की मरम्मति, स्ट्रीट लाईट का अधिष्ठापन करवाया जाएगा। ताकि सड़क दुर्घटनाओं में कमी लायी जा सके।