छपरा दो बच्चों की मां से मायके में मिलने पहुंचा प्रेमी तो ग्रामीणों ने करा दी शादी

छपरा

दो बच्चों के बाद आया जीवन में ट्विस्ट

दोनों पतियों ने बांट लिए एक एक संतान

10 साल पहले हुई थी शादी, प्रेमी के साथ संदेहास्पद स्थिति में पकड़ी गयी महिला

छपरा। इनदिनों में शादीसुदा महिलाओं का प्रेम में शादी का मामला तेजी से बढ़ा है। एक नया मामला भी सामने आया है। मढ़ौरा नगर क्षेत्र की धेनुकी में करीब दस साल पहले विवाही दो बच्चों की मां से उसका प्रेमी मिलने उसके नैहर पहुंचा गया। दोनों को ग्रामीणों ने संदेहास्पद स्थिति में पकड़ लिया और बाद में पूरा मामला जान दोनों की शादी करा दी। दोनों ने शादी से अपनी राजी खुशी बताई है। मढ़ौरा धेनुकी निवासी मुकेश कुमार की पत्नी सोनम पिछले दिनों अपने नैहर परसा,बलिगांव के लतरहिया आई थी। सोनम के नैहर जाने पर उसका प्रेमी उपेन्द्र राम भी उससे मिलने पहुंच गया।

दोनों एक दुसरे से मिल रहे थे तभी लड़की के घरवालों ने युवक को पकड़ लिया। फिर क्या था इसको लेकर हंगामा शुरु हो गया। बाद में दोनों ने एक दूसरे के साथ रहने की रजामंदी जताई तो ग्रामीणों ने पंचायत प्रतिनिधियों के पहल पर गांव के ही मईयां स्थान पर दोनों की शादी करा दी।

मढ़ौरा राहीमपुर निवासी रामनरेश राम का पुत्र उपेन्द्र राम और सोनम के बीच पिछले एक साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। उपेन्द्र अविवाहित था और दोनों एक दुसरे से चार री छिपे मिलते रहे थे। दोनों के बीच के सम्बंध को लेकर चर्चा भी होने लगी थी। इसको लेकर सोनम और उसके पति के बीच भी विवाद चल रहा था। इसी विवाद के कारण सोनम अपने मायके गई थी। सोनम के मायके जाने के बाद प्रेम में विचलित हुआ प्रेमी उपेन्द्र भी सोनम से मिलने परसा चला गया था। दोनों दुसरे से मिल ही रहे थे तभी घर वालों ने उपेन्द्र को पकड़ लिया।

ना बैंड, ना कोई बाराती, ग्रामीणों ने हरहर महादेव की जयघोष लगाया और लड़के ने महिला के मांग में सिंदूर डाल शादी कर ली। ग्रामीणों ने बताया कि महिला सोनम देवी की शादी दस वर्ष पहले धेनुकी में हुई थी। सोनम का पति मुकेश गांव में ही मजदूरी करता था और शराबी था। मुकेश के नशा करने से सोनम का पति से विवाद होता रहता था। इसी बीच पति के गैरमौजूदगी में बगल गांव रहिमापुर निवासी अविवाहित उपेंद्र कुमार राम आता जाता था जिससे सोनम की मित्रता हुई जो प्यार में बदल गई। पहले से दो बच्चों की मां सोनम का दिल प्रेमी उपेंद्र पर आ गया। दोनों छुप छुप कर कई महिने से मिल रहे थे ।

सोनम का धेनुकी निवासी मुकेश से दस साल पहले शादी हुई थी‌। शादी के बाद सोनम को दो बच्चा, एक लड़की व एक लड़का की मां बन गई । इसी बीच पति-पत्नी के बीच तीसरा शख्स उपेंद्र आ गया। यहीं से सोनम के जीवन ट्विस्ट आया। सोनम ने बताया कि उसके ससुराल के बगल गांव राहीमपुर निवासी रामनरेश राम के पुत्र उपेंद्र का घर है। उपेंद्र ने एक वर्ष पूर्व से उस पर डोरे डालना शुरू किया था। धीरे धीरे वह उसके प्रेम में पड़ गई। इस बीच दोनों के बीच अंतरंग संबंध भी स्थापित हो गया था। सोनम ने बताया कि वह अपने मायके आई हुई थी।रविवार की रात उपेन्द्र उससे मिलने उपेंद्र पहुंचा था तभी ग्रामीणों ने पकड़ कर शादी रचा दी।

सोनम को एक पांच साल की बेटी और एक तीन साल का पुत्र है। मिली जानकारी के अनुसार बेटी फिलहाल सोनम के साथ है। जबकि उसके बेटा को पहले पति ने रख लिया है। अपनी बेटी के साथ सोनम अब अपने नए पति के साथ जीवन गुजारेगी। विवाद को खत्म कराने में मखिया प्रतिनिधि राजेश राय, मुखिया सुनील कुमार राम, सरपंच राजेश शर्मा, विकासमित्र वीरेंद्र राम सहित ग्रामीणों ने पहल की थी।