छपरा में धड़कन क्लिनिक के मदद से 67 हृदय रोगियों का हुआ बाईपास सर्जरी एवं एंजिप्लास्टी

छपरा

• दो वर्षो में 85 लाख 25 हजार की राशि सरकार से 67 हृदय रोगियों को मदद दिला

• सम्मान समारोह आयोजित कर 67 हृदय रोगियों को किया जाएगा सम्मानित

छपरा। व्यवसायीकरण के इस दौर में धरती के भगवान कहे जाने वाले डॉक्टरों पर मरीजों से मनमाने पैसे लेने तथा लूट का आरोप लगाना तो आम बात है। लेकिन समाज में कुछ ऐसे भी चिकित्सक है जो समय-समय पर गरीब और असहाय तथा आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए फरिश्ता बनकर सामने आते हैं। हम बात कर रहे हैं छपरा शहर के नगरपालिका चौक स्थित धड़कन क्लिनिक के चिकित्सक ह्रदय रोग विशेषज्ञ डॉ हिमांशु कुमार की । जिन्होंने आज के दौड़ के सबसे खतरनाक माने जाने वाले बीमारी हृदय रोग से ग्रसित 67 लोगों को नया जीवन देकर धरती के भगवान कहे जानेवाले कहावत को चरितार्थ कर दिया है।

डॉ हिमांशु कुमार ने दो वर्षो में 85 लाख 25 हजार की राशि सरकार से मदद दिलाकर 67 हृदय रोगियों का बाईपास सर्जरी एवं एंजिप्लास्टी कराया है। उन सभी रोगियों के आगे की जीवन में सुख समृद्धि आये इसके लिए धड़कन क्लीनिक के दूसरे स्थापना दिवस के अवसर पर एक सम्मान समारोह आयोजित कर 14 दिसंबर को सम्मानित किया जाएगा। डॉ हिमांशु कुमार ने बताया की किसी भी भेदभाव को भुलाकर जरूरतमंद की मदद करना इंसानियत कहलाती है। अगर किसी को दुख-दर्द है तो बिना किसी हिचक के उसकी सहायता के लिए तैयार रहना चाहिए।

और उन्होंने कहा की किसी के साथ अच्छा करेंगे, बोलचाल अच्छी रखेंगे तो उससे हमारा नाम होगा। लोग सम्मान देंगे और किसी तरह की परेशानी होने पर साथ खड़े होंगे। हर किसी को सामाजिक बदलाव के लिए अच्छी सोच रखना जरूरी है। हम चाहते हैं कि एक अच्छे वातावरण में रहें तो उसके लिए अच्छा बनना भी जरूरी है। उन्होंने कहा की मेरा एक ही उदेश्य है की कोई भी व्यक्ति पैसे के अभाव में इलाज से वंचित ना रहे। उन सभी गरीब असहाय लोगों के लिए धड़कन क्लिनिक के दरबाजा खुला है जो अपना इलाज कराने में असमर्थ है।