बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में शामिल होने से पहले ये महत्वपूर्ण बातें पढ़ें, नहीं तो मुसीबत होगी।

करियर – शिक्षा बिहार

बिहार बोर्ड कक्षा 10 की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को सबसे पहले इन बातों को ध्यान से पढ़ना चाहिए, ताकि वे एग्जाम सेंटर पर मुसीबत से बच सकें।

15 फरवरी से बिहार बोर्ड की 10वीं कक्षा की मैट्रिक परीक्षा शुरू होगी और 23 फरवरी को समाप्त होगी। इस परीक्षा को लेकर बोर्ड ने प्रत्येक डीएम और जिला शिक्षा अधिकारी को पत्राचार किया है। इस पत्र में बोर्ड ने बताया कि परीक्षा दो बार होगी। 9:30 बजे पहली पाली की परीक्षा होगी। इसके लिए छात्रों को 9 बजे परीक्षा केंद्र पर पहुंचना होगा। वहीं दो बजे दूसरी पाली की परीक्षा शुरू होगी। इसके लिए छात्रों को परीक्षा केंद्र पर 1:30 बजे तक पहुंचना होगा। इसके अलावा, एग्जाम सेंटर 1 घंटा पहले खुला होगा।

इस साल लगभग 16 लाख विद्यार्थी बिहार बोर्ड मैट्रिक की परीक्षा में भाग लेंगे। राज्य भर में इसके लिए 1585 एग्जाम सेंटर बनाए गए हैं। सभी जिलों को बोर्ड ने रोल नंबर, रोल कोड, OMR शीट और पाली वाइज छात्रों की लिस्ट भेजी है। परीक्षा दो शिफ्टों में आयोजित की जा रही है क्योंकि जिला मुख्यालय और अनुमंडलों में परीक्षा भवनों की कमी है। 16.94 लाख विद्यार्थी इस वर्ष बिहार बोर्ड की 10वीं परीक्षा में भाग लेंगे।

19.10 लाख विद्यार्थियों ने पिछले साल बिहार बोर्ड मैट्रिक की परीक्षा में परीक्षा फॉर्म भरे। 15 फरवरी से 23 फरवरी 2024 तक परीक्षा होगी। 1 फरवरी से 12 फरवरी 2024 तक बिहार बोर्ड इंटर की परीक्षा होगी। वहीं, मैट्रिक परीक्षा 1583 केंद्रों पर और इंटर परीक्षा 1522 केंद्रों पर होगी। इसके लिए बोर्ड ने मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षा देने वाले स्थानों की सूची जारी की है। इस बार मैट्रिक की बोर्ड परीक्षा में 58 और इंटर की बोर्ड परीक्षा में 51 एग्जाम सेंटर बढ़ाए गए हैं।