सारण में कई जिलों को जोड़ने वाला रेल ओवरब्रिज बनकर तैयार, उद्घाटन के इंतजार में अब तक बंद

छपरा

छपरा। राम की नगरी अयोध्या से मां सीता की जन्मस्थली जनकपुर तक जाने वाली एनएच 227 ए राम जानकी पथ पर लोगों को जाम की समस्या से निजात दिलाने और सड़क हादसे रोकने के लिए सारण जिले के मशरक के चैनपुर गांव में मशरक महाराजगंज रेलखंड पर रेल ओवरब्रिज का निर्माण किया गया है। यह ओवरब्रिज बनकर तैयार है, लेकिन अब तक इसे इस्तेमाल के लिए नहीं खोला गया है। बस इंतजार है तों सिर्फ उद्घाटन का।

लोगों को अब इसके उद्घाटन का बेसब्री से इंतजार है ओवरब्रिज बनने से वर्षों से जर्जर सड़क और ट्रेन आने जाने के समय लगनें वाले जाम से लोगों को जल्द ही छुटकारा मिल जाएगा। वही इस ओवरब्रिज के उद्घाटन से अलग-अलग क्षेत्र के लाखों लोगों को फायदा होगा। यह ओवरब्रिज एन एच 227 ए राम-जानकी पथ और छपरा मशरक महम्मदपुर एस एच 90 को बिहार के आधा दर्जन जिलों समेत कई राज्यों को आपस में जोड़ता है। करोड़ रुपए की लागत से ओवरब्रिज बन जाने के बाद अब उद्घाटन नहीं होने से इससे वाहनों का परिचालन शुरू नहीं हो पा रहा है ,

नीचे की सड़क जर्जर होने की वजह से जाम की समस्या और सड़क दुर्घटना की बात आम हो गयी है। मामले को गंभीरता से लेते हुए स्थानीय ग्रामीणों ने रेल प्रशासन और महाराजगंज भाजपा सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल पर निशाना साधते हुए बगैर क्रेडिट लिए ओवर ब्रिज को जल्द आरंभ करने की मांग की है। वही रेल ओवरब्रिज के निर्माण में लगें लोगों ने बताया कि ओवरब्रिज बनकर तैयार हैं लेकिन ओवरब्रिज के उपर उच्च क्षमता के तार गुजर रहे हैं जिसको विधुत विभाग की टीम के द्वारा हटाने का काम किया जा रहा है जिसको हटाते ही उद्घाटन की प्रकिया पूरी कर ओवरब्रिज आवागमन के लिए चालू कर दिया जाएगा।