छपरा में चार्जर के केबल से गला दबाकर नवविवाहिता की हत्या, पति गिरफ्तार

छपरा

छपरा। एक पिता ने दिन-रात मजदूरी मेहनत कर और कर्ज लेकर चार माह पूर्व बड़े धूम-धाम से अपनी बेटी की डोली सजायी और दान-दहेज देकर बेटी को विदा किया। लेकिन उसे क्या पता था जिस युवक ने सात जन्मों तक साथ निभाने का वादा किया वही जान का दुश्मन बन जायेगा। चार माह बाद दहेज के लिए ससुराल वालों ने महिला की गला दबाकर हत्या करने का आरोप लगा है। मामला सारण जिले के अमनौर थाना क्षेत्र के गनौरा गांव की है।

जहां ससुराल वालों ने चार्जर के केबल से गला दबाकर नवविवाहिता की हत्या कर दी गयी है। मृतका की पहचान गनौरा गांव निवासी प्रमोद कुमार महतो की की पत्नी प्रियंका देवी के रूप में हुआ है। प्रियंका का विवाह 4 महीना पहले 20 मई को हुआ था। मायके वालों ने ससुराल वालों पर दहेज के लिए हत्या किए जाने का आरोप लगाया है।

 घटना के बारे में जानकारी देते हुए मृतका के पिता ने बताया कि प्रियंका का 4 महीना पूर्व विवाह संपन्न हुआ था विवाह के बाद सब कुछ ठीक ठाक था। लेकिन विगत दो महीना पहले पैसे का मांग किया गया। जिसके बाद प्रियंका के पिता ने 40 हजार रुपये दिए गए थे। रविवार के रात में विवाद हुआ और सोमवार को मौत को सूचना मिली।

मौत की जानकरी पड़ोसी द्वारा फोन करके मायके वालों को दिया गया। जिसके बाद मायके वाले पहुँचे तो शव पलंग पर पाया गया। परिवार के सभी सदस्य फरार हो गए है। घटना की सूचना पर पहुंची अमनौर थाने की पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए छपरा सदर अस्पताल भेज दिया। वहीं आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया गया है।