छपरा के शिवम और सुंदरम ने राष्ट्रीय स्तर पर लहराया परचम, ताइक्वांडो प्रतियोगिता में जीता सिल्वर मेडल

छपरा

छपरा। छपरा के शिवम कुमार ने नेशनल ताइक्वांडो प्रतियोगिता में बिहार के प्रतिनिधित्व करते हुए सिल्वर मेडल बिहार को दिलाने में कामयाबी हासिल किया है.शिवम कुमार जिला और राज्य स्तर पर बेहतर प्रदर्शन करते हुए नेशनल में जगह बनाया था.नेशनल के लिए जिले से शिवम और सुंदरम दोनों भाई चयन किए गए थे.वही स्वामी विवेकानंद ताइक्वांडो क्लब के अध्यक्ष मनोज कुमार के द्वारा दोनों भाइयों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया था. आज जीतकर घर लौटते हीं अध्यक्ष मनोज कुमार और ग्रामीणों ने फूल माला और डंक बजाकर जोरदार स्वागत किया.

दोनों भाई मध्य प्रदेश के बैतूल में 67वीं राष्ट्रीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में बिहार के सारण जिले से शिवम और सुंदरम बिहार का प्रतिनिधित्व कर रहे थे. जहां 31 दिसंबर से 5 जनवरी तक आयोजित ताइक्वांडो प्रतियोगिता में दिल्ली, महाराष्ट्र,राजस्थान, तमिलनाडु को हराते हुए फाइनल मैच में जगह बनाने में शिवम कामयाबी हासिल कर लिया, लेकिन मध्य प्रदेश के खिलाड़ी से एक अंक से शिवम स्वर्ण पदक से चूक गया, जिसके वजह से सिल्वर मेडल से संतुष्ट होना पड़ा, जबकि छोटा भाई सुंदरम दो खिलाड़ियों को पराजित करते हुए तीसरे खिलाड़ी से कुछ हीं अंक से पदक से चूक गया.
जबकि शिवम के जीत कर घर पहुंचते हीं गांव वालों ने गाजे बाजे के साथ डंका बजाते हुए जोरदार दोनों को फूल माले से स्वागत किया और मिठाई बाटा, शिवम सारण जिले के रिविलगंज प्रखंड अंतर्गत महम्मदपुर गांव निवासी विजय कुमार के पुत्र हैं. जो अपने गांव में ही स्वामी विवेकानंद ताइक्वांडो क्लब में 2 वर्षों से प्रशिक्षण ले रहे हैं.

 

शिवम कुमार ने कहा कि नेशनल ताइक्वांडो प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन करते हुए चार खिलाड़ियों को हराते हुए फाइनल मैच में पहुंच गया, लेकिन कुछ कमी के कारण मुझे सिल्वर मेडल से संतुष्ट रहना पड़ा, कहां की अगले बार मौका मिलने पर उस कमी को पूरा करते हुए बिहार को स्वर्ण मेडल दिलाऊंगा.

इस अवसर पर अध्यक्ष मनोज कुमार ने कहा कि मात्र 2 वर्ष में हमारे क्लब से 8 से 9 खिलाड़ी नेशनल स्तर पर जाकर बिहार का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. यह भी बताया कि इस क्लब में खेलने वाले बच्चे काफी गरीब घर से आते हैं.जिन्हें निशुल्क सिखाया जाता है. यहां पर प्रशिक्षण विवेक कुमार के द्वारा निशुल्क दिया जाता है. कहा कि ताइक्वांडो प्रतियोगिता ही नहीं बल्कि योगा प्रतियोगिता में भी यहां के कई खिलाड़ी नेशनल स्तर पर प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. कहा कि काफी खुशी हो रहा है. कि इतने नन्हे नन्हे बच्चे नेशनल स्तर पर जाकर अपने जिले और बिहार का प्रतिनिधित्व करते हुए मेडल जीत कर लाए हैं. जिन्हें देखकर काफी गर्व महसूस हो रहा है।