@संजीवनी रिपोर्टर

हाजीपुर : बिहार के हाजीपुर में सराय थाना क्षेत्र की महमदाबाद पंचायत के मरीचाराम गांव में शनिवार देर रात कर्ज से परेशान पति-पत्नी ने खुदकुशी कर ली. कर्ज को लेकर हुए विवाद के बाद पहले पत्नी ने शरीर में आग लगाकर अपनी जान दे दी. पत्नी की मौत के कुछ देर बाद ही पति ने भी अमरूद के पेड़ में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया.

कर्ज लेकर तीन वर्ष पहले खरीदा था ट्रक

मिली जानकारी के अनुसार महमदाबाद पंचायत के वाड नंबर 1 मरीचाराम निवासी 35 वर्षीय रमेश साह व पत्नी 32 वर्षीय सुमन देवी ने तीन वर्ष पूर्व लोन लेकर ट्रक की खरीदारी की थी. ट्रक का किस्त चुकाने के लिए उन्होंने कई महिला समूहों से लगभग पांच लाख रुपये कर्ज ले रखे थे. ग्रामीणों के अनुसार पहले ट्रक से होने वाली इनकम से वे सभी किस्त का भुगतान कर रहे थे. इधर, लॉकडाउन की वजह से ट्रक का परिचालन बंद है. इसकी वजह से उनकी आमदनी भी रुक गयी थी.

कर्जदारों के तगादा से परेशान थे दोनों

कर्जदारों के तगादा से वे परेशान थे. देर रात दोनों पति-पत्नी के बीच कर्ज की राशि को लेकर ही विवाद हो गया. इस विवाद के बाद पत्नी ने आग लगाकर खुदकुशी कर ली. बताया जाता है कि पत्नी को बचाने के प्रयास में रमेश भी झुलस गया था. मौके पर जुटे ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की जांच कर ही रही थी कि रमेश ने लोगों की नजरों से बचते हुए घर के आगे लगे अमरूद के पेड़ से फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली.

जब ग्रामीणों की नजर उस पर पड़ी तो पुलिस की मदद से उसे नीचे उतारा गया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी. मृतक के दो पुत्र प्रिंस कुमार 10 वर्ष व सन्नी कुमार 7 वर्ष स्थानीय प्राइवेट स्कूल के छात्र हैं. इस घटना के बाद दोनों का रो-रोकर बुरा हाल है. मृतका के मायके वाले भी घटना की सूचना पर मौके पर पहुंच गये. इधर, इस मामले में सराय थानाध्यक्ष सुनीता कुमारी ने ने बताया कि दोनों के शव को पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है. आवेदन मिलने पर आगे की कार्रवाई की जायेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here