प्रत्येक व्यस्क व्यक्ति का सबसे बड़ा और सशक्त अधिकार है मताधिकार : आयुक्त

इस समाचार को शेयर करें

@संजीवनी रिपोर्टर
छपरा : व्यस्क हो जाने के बाद प्रत्येक व्यक्ति का सबसे बड़ा और सशक्त अधिकार मताधिकार है। उक्त बातें प्रमंडलीय आयुक्त पूनम ने राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर समाहरणालय सभागार में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में सोमवार को कही। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मतदाता को निर्वाचन के समय अपने मताधिकार का प्रयोग निश्चित रूप से करके भारतीय लोकतंत्र को और मजबूती प्रदान करना चाहिए। आयुक्त ने कहा कि राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य लोकतांत्रिक प्रक्रिया में सबकी भागीदारी सुनिश्चित करना है।

सभी मतदाता सषक्त, सतर्क, सुरक्षित एवं जागरूक बने। उन्होने कहा कि सारण जिला में मतदाता सूची का लिंगानुपात जिले की जनगणना लिंगानुपात से कम है। इसको और बढ़ाने का प्रयास होना चाहिए। साथ ही युवा जो 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर लिए हैं, उनका नाम मतदाता सूची में जोड़ने का कार्य किया जाना चाहिए, ताकि कोई व्यक्ति छुटे नही। आयुक्त ने कहा कि हमारा देश दुनिया का सबसे बङा लोकतांत्रिक देश है, जिसका हमे गर्व होना चाहिए। लोकतंत्र के महापर्व के अवसर पर सभी मतदाताओं को मतदान की प्रक्रिया में सहभागी बनकर अपने जिला, राज्य और देश को सशक्त बनना चाहिए।

आयुक्त ने कोविड काल में जिला प्रशासन द्वारा सफलतापर्वूक सम्पन्न कराये गये विधान सभा के आम चुनाव को लेकर सभी पदाधिकारियों एवं कर्मीगण को बधाई और धन्यवाद दिया।
कार्यक्रम की शुरूआत में जिलाधिकारी डाॅ नीलेश रामचंद्र देवरे ने आयुक्त का फूलों की गुलदस्ता के साथ स्वागत किया । आयुक्त एवं जिलाधिकारी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत उद्धाटन किया । जिलाधिकारी डाॅ देवरे ने इस अवसर पर स्वागत भाषण में कहा कि आज हीं के दिन 1950 में भारत निर्वाचन आयोग की स्थापना हुयी थी। यह संस्था कितनी महत्वपूर्ण है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 26 जनवरी 1950 को देश में संविधान लागू होने के एक दिन पूर्व इस संस्था की नींव पड़ी।

वर्ष 2011 से प्रतिवर्ष 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है। आज के दिन लोकतंत्र में मताधिकार के महत्व के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है। उन्होंने कहा कि भारतीय लोकतंत्र को लगातार सशक्त बनाने के लिए यह जरूरी है कि प्रत्येक चुनाव में अपना प्रतिनिध चुनने की शक्ति का प्रयोग धर्म, नस्ल, जाति, समुदाय या भाषा के आधार पर प्रभावित हुए बिना निर्भीक होकर किया जाय।

इस अवसर पर भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा के संदेश को भी सुनाया गया।
राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पहली बार मतदाता बने युवाओं को आयुक्त एवं जिलाधिकारी ने ईपिक कार्ड प्रदान किया और निर्वाचन की प्रक्रिया में उनकी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए प्रोत्साहित एवं उर्जान्वित किया ।

मोहिनी, शषिष कुमार सिंह, मीरा कुमारी, मनु कुमार, विषाल कुमार, अंकिता स्नेह, संध्या कुमारी, पिंकी कुमारी, साहिल कुमार, अनुज कुमार, रवि रंजन कुमार, अमन वर्मा, अंजली कुमारी, शुभम कुमार एवं श्रेया श्रीवास्तव को ईपिक कार्ड का वितरण किया । सभी युवा ईपिक पाकर खुश नजर आये और उन्होंने अन्य युवाओं को भी मतदाता सूची में अपना नाम जोड़नेवाले के लिए प्रयास करने की बात कही। कार्यक्रम के अंत में अपर समाहर्ता डाॅ गगन ने धन्यवाद ज्ञापित किया ।

Ranjit Kumar

Ranjit Kumar

Digital Media Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!