डाकघरों में चलेगा विशेष अभियान, खुलेंगे “सुकन्या समृद्धि योजना“ का सुकन्या खाता : एसएसपी

इस समाचार को शेयर करें

– 10 वर्ष से कम उम्र की सभी बेटियों का खोलने का लक्ष्य

@संजीवनी रिपोर्टर
छपरा : सभी डाकघरों में विशेष अभियान के तहत “सुकन्या समृद्धि योजना“ का सुकन्या खाता खोला जायेगा और 10 वर्ष से कम उम्र की सभी बेटियों का खोलने का लक्ष्य है। उक्त बातें वरिष्ठ डाक अधीक्षक सुबोध प्रताप सिंह ने सोमवार को कही। उन्होंने भारतीय डाक विभाग अपने सभी योजनाओं का लाभ सीधे आम जनता तक डिजिटल इंडिया प्रणाली के तहत पहुंचाना चाहता है। इस प्रणाली में भारतीय डाक विभाग ने भारत सरकार, संचार मंत्रालय के अंतर्गत प्रधानमंत्री की महत्वकांक्षी योजना “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं “ के तहत “सुकन्या समृद्धि योजना“ को देश की प्रत्येक बेटियों तक पहुँचाने का अभियान चलाया है।

 

उन्होंने कहा कि 25 से 30 जनवरी तक तक सारण के सभी डाकघरों के द्वारा विशेष अभियान के तहत “सुकन्या समृद्धि योजना“ का सुकन्या खाता जिले के 10 वर्ष से कम उम्र की सभी बेटियों का खोलने का लक्ष्य रखा है। इस अभियान को जन-जन तक पहुँचाने के लिए विशेष अभियान का आयोजन किया गया है। पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड एवं वरिष्ट नागरिक बचत योजना के तहत खाता खोलना है।

 

यदि लड़की के माता-पिता- अभिभावक इस योजना के अंतर्गत खाता खोलते हैं तो, बेटी की पढाई अथवा विवाह माता- पिता के लिए दर्द नहीं बल्कि सहर्ष एक फर्ज बनेगा। अब बेटी किसी के लिए बोझ नहीं, बल्कि घर की लक्ष्मी होगी। बेटियों के नाम से खाता खुलवाने पर उसकी पढाई, विवाह इत्यादि के समय एक निश्चित रकम बन जाता है। इस  प्रकार वह परिवार का बोझ नहीं बन पाती।

उन्होंने कहा कि पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड खाता लम्बी अवधि के एक बेहतर निवेश विकल्प है। इसमें निवेश न केवल सुरक्षित है , बल्कि इसमें टैक्स छुट का पूरा लाभ मिलता है। निवेश पूरी तरह सरकार का संरक्षण है, इसलिए यह पूरी तरह जोखिम मुक्त है।

 

उन्होंने कहा कि वरिष्ट नागरिक बचत योजना सरकार समर्थित बचत योजना है, जो 60 वर्ष से अधिक आयु के भारतीय निवासियों के लिए बनाई गई है। इस योजना पर भी टैक्स छुट का लाभ मिलता है।

प्रवर डाक अधीक्षक ने अपने कर्मचारियों एवं अधिकारियों को निर्दश दिया है कि वे सभी खाता खोलने वाले ग्राहकों को पूरा सहयोग करें ताकि उन्हें सुकन्या खाता, पीपीएफ एव एससीएसएस खाता खोलने में किसी भी प्रकार की परेशानी न हो।

Ranjit Kumar

Ranjit Kumar

Digital Media Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!