पीएमकेएसएनवाई में फर्जीवाड़ा: राशि की रिकवरी में आई तेजी

इस समाचार को शेयर करें

– एक सौ किसानों से की गई 10 लाख की रिकवरी

@संजीवनी रिपोर्टर
छपरा : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना फर्जीवाड़ा कर गलत तरीके से लाभ प्राप्त करने वाले किसानों से राशि की रिकवरी तेज कर दी गई है। अब तक करीब एक सौ किसानों से लगभग 10 लाख रुपये की राशि की रिकवरी की जा चुकी है। जिले में लगभग 1800 किसानों के द्वारा एक करोड़ 60 लाख रुपये की राशि का लाभ फर्जी तरीके से प्राप्त किया गया है।

 

यह वैसे किसान हैं, जो आयकर दाता हैं और किसान की श्रेणी में नहीं आते हैं। उनके द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत लाभ प्राप्त किया गया है । जिला कृषि पदाधिकारी डॉ के के वर्मा ने बताया कि राशि की रिकवरी के लिए प्रत्येक प्रखंड के प्रखंड कृषि पदाधिकारी कृषि समन्वयक और किसान सलाहकारों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया है। चिन्हित किए गए 1800 किसानों को नोटिस भेजा गया है और गलत तरीके से ली गई राशि को सरकारी खजाने में जमा कराने का निर्देश दिया गया है।

 

 

इसके लिए राज्य स्तर पर एक खाता खोला गया है, जिसमें राशि को किसानों के द्वारा जमा करा कर उससे संबंधित रसीद विभाग को जमा कराना है । उन्होंने बताया कि अब तक जिले में करीब 100 किसानों के द्वारा राशि जमा करा कर उसकी रसीद जिला कृषि पदाधिकारी के कार्यालय में जमा की गई है। अब तक लगभग 10 लाख रुपये की रिकवरी कर ली गई है ।उन्होंने बताया कि राशि की रिकवरी में तेजी लाने की दिशा में कार्रवाई की जा रही है। निर्धारित समय सीमा के अंदर जालसाजी कर लाभ प्राप्त करने वाले व्यक्तियों के द्वारा राशि जमा नहीं कराने पर उनके विरुद्ध कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। राशि जमा नहीं करने वालों के खिलाफ जालसाजी तथा धोखाधड़ी का मुकदमा भी चलेगा और उनसे राशि की वसूली की जाएगी।

 

बताते चलें कि बिहार में सबसे अधिक सारण जिले में किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसान लाभ उठा रहे हैं और इस योजना के तहत लाभ उठाने वाले करीब 18 साल फर्जी किसानों की पहचान की गई है।

Ranjit Kumar

Ranjit Kumar

Digital Media Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!