छपरा जीआरपी ने चाकूबाजी मामले में 10 घंटे में सभी आरोपियों को दबोचा

इस समाचार को शेयर करें

@संजीवनी रिपोर्टर
छपरा: पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा सिवान रेलखंड पर स्थित एकमा स्टेशन पर एक युवक को चाकू मारने के मामले में नामजद सभी आरोपियों को 10 घंटे के अंदर राजकीय रेलवे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। रेल थानाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि गुरुवार को दिन में एक युवक को एकमा स्टेशन परिसर में चाकू मारकर घायल कर दिया गया था। उन्होंने बताया कि युवक को चाकू मारने का कारण कुछ युवक के द्वारा महिलाओं पर फब्तियां कसने का विरोध करना है,

जिसके कारण उसे चाकू मार दिया गया। चाकू लगने से घायल युवक मांझी थाना क्षेत्र के फतेहपुर सरैया गांव निवासी श्रीराम प्रसाद का पुत्र रंजीत कुमार है। इस मामले में रंजीत कुमार के बयान पर दो लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है । घटना के तुरंत बाद चाकू मारने वालों में से एक आरोपी को स्टेशन पर मौजूद जीआरपी तथा आरपीएफ के जवानों ने गिरफ्तार कर लिया और एक अन्य फरार हो गया। घटना के तुरंत बाद कार्रवाई करते हुए राजकीय रेलवे पुलिस ने इस मामले में एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। घटना के 10 घंटे के अंदर सभी आरोपियों की गिरफ्तारी राजकीय रेलवे पुलिस के लिए काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। इस मामले में घायल रंजीत कुमार के बयान पर छपरा रेल थाना में कांड संख्या 91/2020 दर्ज की गयी है।

प्राथमिकी के नामजद अभियुक्त अभियुक्तों में सीवान नगर थाना के अंडा नंबर दो के पास बनिया टोली निवासी राम अवतार प्रसाद के पुत्र सुरेश प्रसाद तथा सारण जिले के एकमा थाना क्षेत्र के गिरी कॉलोनी वार्ड नंबर 4 के निवासी स्वर्गीय शिवजी प्रसाद के पुत्र जितेंद्र कुमार उर्फ खेसारी शामिल है। मूल रूप से सिवान के निवासी सुरेश प्रसाद वर्तमान समय में एकमा स्टेशन के पास लिट्टी चोखा की दुकान चलाता है।

Ranjit Kumar

Ranjit Kumar

Digital Media Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!