छपरा में चिकित्साकर्मियों के अवकाश पर 16 नवम्बर तक लगी रोक

इस समाचार को शेयर करें

– चिकित्सा कर्मियों को नहीं मिलेगा किसी तरह का अवकाश

– कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच में तेजी लाने का आदेश

@संजीवनी रिपोर्टर
छपरा: सारण जिले के चिकित्सा कर्मियों के अवकाश पर 16 नवंबर तक रोक लगा दी गई है और कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच की गति को तेज करने का आदेश सिविल सर्जन डा माधवेश्वर झा ने दिया है। उन्होंने बताया कि लॉक डाउन समाप्त होने तथा ऑनलॉक शुरू होने के साथ सभी तरह की गतिविधियां संचालित हो रही है।

 

ऐसी परिस्थिति में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ गया है, जिसके मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट कर दिया गया है। प्रधान सचिव के निर्देश के आलोक में जिले के सभी चिकित्सा कर्मियों के किसी भी तरह के अवकाश पर रोक लगा दी गई है। साथ ही प्रतिदिन छह हजार व्यक्तियों की जांच करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए जिले के सभी प्रखंडों के लिए तीन तीन सौ प्रतिदिन जांच का लक्ष्य तय किया गया है और हर हाल में लक्ष्य को पूरा करने का निर्देश दिया गया है ।

 

उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम तथा बचाव के लिए जांच सबसे महत्वपूर्ण है । 10 वर्ष से अधिक उम्र वाले सभी व्यक्तियों की जांच अनिवार्य रूप से करना है और इसके लिए पर्याप्त मात्रा में सभी प्रखंडों को रैपिड इंजन किट उपलब्ध कराया गया है। इसके अलावा ट्रू नेट से भी जांच की व्यवस्था की गई है।

 

उन्होंने बताया कि लॉक डाउन समाप्त होने और अनलॉक शुरू होने के कारण कोरोना वायरस के संक्रमण बढ़ने की आशंका है। ऐसी स्थिति में सभी प्रखंडों में सुचारू रूप से जांच की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा जिन इलाकों में पॉजिटिव मरीज पाये जा रहे हैं, वहां सघन रूप से जांच कराया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!