तेजी से फैल रहा कोविड-19 का संक्रमण, भ्रांतियों से रहें दूर

इस समाचार को शेयर करें

•सोशल डिस्टेसिंग और मास्क उपयोग बचाव में कारगर
•अफवाहों पर नहीं दे ध्यान
• सावधानी ही बचाव का सबसे बेहतर तरीका
@संजीवनी रिपोर्टर
छपरा।कोरोना वायरस जिस तेजी से पूरी दुनिया में पांव पसार रहा है। उसी तेजी के साथ इसको लेकर तरह -तरह की भ्रांतियां फैल रही हैं। लोग व्हाुट्सएप से लेकर सोशल मीडिया पर न कई तरह की बातें कर रहे हैं। इनमें से कई मैसेज में इस वायरस से बचने के लिए तरह -तरह के तरकीबों की जानकारी दी जा रही है. लहसुन खाने एवं प्याइज पास रखने जैसी कई अन्य भ्रांतियों को कोरोना से बचाव की तरकीब बताई जा रही है. लेकिन ये केवल अफवाहें हैं जिनकी कोरोना से बचाव के रूप में किसी भी तरह की अधिकारिक पुष्टि नहीं हुयी है.
डब्यूवसे एचओ ने साफतौर पर कहा है कि इससे बचाव का तरीका फिलहाल सावधानी ही है। इस वायरस के अटैक से सावधान रहें। अपने हाथों को दिन में कई बार साबुन से साफ करें। हाथ मिलाने से परहेज करें। यदि छींक या खांसी आए तो मुंह पर कपड़ा रख लें। ऐसा इसलिए है क्यों कि यह वायरस इंसान के जरिए एक से दूसरे में तेजी से फैलता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक बुजुर्गों एवं बीमार लोगों को इसका खतरा सबसे ज्यादा है। मेडिकल स्टाफ और डॉक्टर भी चपेट में आ सकते हैं क्योंकि वह पीड़ित के संपर्क में रहते हैं। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि लहसुन में जरूर विषाणुरोधी गुण होते हैं, लेकिन अभी तक इसकी कोई पुष्टि नहीं हुई है कि लहसुन खाने से कोरोना के विषाणु मर जाते हैं। इसी तरह कोई भी एंटीबायोटिक दवा भी इस वायरस को नहीं मार सकती।

अभी तक कोई दवा या वैक्सीन तैयार नहीं:

डब्ल्यूएचओ ने साफ कहा है कि अभी तक इस वायरस से लड़ने के लिए किसी भी तरह की वैक्सीन या दवा का ईजाद नहीं की गई है, हालांकि इस पर लगातार प्रयोग जारी है। इसलिए अगर आपसे कोई कोरोना की दवा ईजाद करने का दावा करे तो आप उसके बगल से धीरे से मुस्कुरा कर आगे बढ़ जाएं।

सेनिटाइजर कितना कारगर :

कोरोना का प्रकोप बढ़ने पर सेनिटाइजर का भी इस्तेकमाल काफी बढ़ गया है। लेकिन यदि आपको इस वायरस की चपेट में आने से बचना है तो आपके सेनिटाइजर में एल्को हल की मात्रा का 60 फीसद होना जरूरी है। इसके अलावा साबुन से हाथ धोना सबसे बेहतर विकल्प है।

जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें:

इस महामारी से बचने का सबसे कारगर तरीका सोशल डिस्टेंसिंग को माना जा रहा है। अधिक जरूरी न होने पर बाहर निकलने से बचना चाहिए। अगर बाहर जाते हैं तो लोगों से कम से कम 6 फीट की दूरी बेहद जरूरी है। घर पर रहकर आप इस संक्रमण को बढ़ने से रोक सकते हैं। ऐसा इसलिए भी क्योंकि भीड़ में यह पता नहीं होता कि कौन इस खतरनाक वायरस से संक्रमित है. अगर किसी को इसका संक्रमण होगा तो दूसरे भी इसकी चपेट में आ सकते हैं।इस स्थिति में संक्रमण बढ़ने का खतरा ज्यादा होता है।

रोजाना इस्तेमाल वाले वस्तुओं की सफाई जरूरी:

सिविल सर्जन डॉ माधवेश्वर झा ने बताया घर पर जिन वस्तुओं का रोजाना इस्तेमाल हो रहा है। उनकी सफाई रोजाना करें। कुर्सी, मेज, लाइट के स्विच, दरवाजे और हत्थे को घर के सभी लोग इस्तेमाल करते हैं, इन्हें रोजाना साफ करें।

घर से निकलते समय मास्क जरूर पहने:

कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर प्रशासन ने मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। ऐसे में घर से निकलते समय मास्क पहनकर ही निकलें। मास्क नहीं पहनने वालों के खिलाफ प्रशासन अभियान चला रही है। प्रशासन की ओर से मास्क नहीं पहनने वालों से जुर्माने की वसूली की जा रही है। मास्क के उपयोग से कोविड-19 के संक्रमण से बचाव किया जा सकता है। इसलिए मास्क का उपयोग बेहद जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!