@संजीवनी रिपोर्टर
छपरा : कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रविवार को शहर के दो केंद्रों पर आईआईटी में प्रवेश के लिए जेईई एडवांस्ड परीक्षा आयोजित की गयी।यह परीक्षा एक कंप्यूटर आधारित परीक्षा थी, जो दो शिफ्ट में आयोजित की गयी। मालूम हो कि जिन छात्रों ने जेईई मेंस की परीक्षा पास की है वह छात्र जेईई ए़डवांस्ड परीक्षा में शामिल हुए। बीटेक और बी कोर्सेज में दाखिले के लिए इस परीक्षा का आयोजन किया गया।

परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर जिला प्रशासन ने अपने स्तर से भी विशेष व्यवस्था की गयी थी। आईआईटी प्रबंधन की तरफ से मिले दिशा निर्देश के आलोक में जिला प्रशासन ने अफसरों की प्रतिनियुक्ति से लेकर अन्य संबंधित कार्य को पूरा किया था।

दो शिफ्ट में ली गयी परीक्षा
शहर के दहियावा स्थित रोशनी इंस्टीट्यूट व भिखारी चौक स्थित एडुकेयर इंस्टिट्यूट पर जेईई एडवांस्ड परीक्षा दो शिफ्टों में आयोजित की गयी। परीक्षा सुबह नौ बजे से दोपहर 12 बजे तक और दोपहर 2:30 से 5:30 बजे तक ली गयी। दोनो केंद्रों पर पांच छात्र अनुपस्थित रहे। रोशनी इंस्टिट्यूट पर 71 में 70 स्टूडेंट्स तो एडुकेयर केंद्र पर 66 में 62 स्टूडेंट्स परीक्षा में शामिल हुए। परीक्षा का परिणाम पांच अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे।

राज्य के 11 जिलों में बनाये गए थे केंद्र

कोरोना काल मे केंद्र में भीड़भाड़ से बचने  के लिए पूरे इंतजाम कर लिए गए थे। परीक्षा केंद्र के पास भीड़ जमा न हो, इसके लिए छात्रों को रिपोर्टिंग का समय दिया गया था। इस साल जेईई एडवांस्ड के लिए उपस्थित होने वाले केवल 64 फीसदी छात्र 2020 में परीक्षा के लिए पंजीकृत हैं। राज्य के 11 शहरों में फैले 72 केंद्रों में लगभग 30,000 उम्मीदवार जेईई एडवांस की परीक्षा में शामिल होने के लिए पंजीकृत थे। कई छात्र परीक्षा से एक दिन पहले अपने परीक्षा केंद्र शहर पहुंच गए थे।

तैयारी के अनुरूप प्रश्न पूछे गए
परीक्षा समाप्त होने के बाद छात्रों ने बताया कि तैयारी के अनुरूप ही प्रश्न पूछे गए थे। कुछ प्रश्न काफी घुमावदार थे तो कुछ प्रश्न आसान भी रहे। उन्होंने बताया कि सिलेबस के अनुसार ही अधिकांश प्रश्न पूछे गए थे। गया के रहने वाले मोहम्मद सोहेल ने बताया कि पिछले साल परीक्षा ठीक नहीं गई थी, लेकिन इस साल परीक्षा सही से हुई है। रिजल्ट निकलना तय है। इस तरह की बात कई अन्य छात्रों ने करें।

जिला प्रशासन के स्तर पर हो रही थी मॉनिटरिंग

छपरा जैसे छोटे शहर में भी जेईई की परीक्षा संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन फुलप्रूफ व्यवस्था किए हुए था। परीक्षा केंद्रों के बाहर समुचित संख्या में पुलिस बल व मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई थी । मजिस्ट्रेट भी अपने स्तर से परीक्षा पर निगाह रखे हुए थे।अधिकारियों ने बताया कि दोनों केंद्रों पर सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए परीक्षा ली गई। केंद्रों पर समुचित व्यवस्था की गई थी। इस कारण छात्रों को कोरोना काल में भी कोई परेशानी नहीं हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here