कारी सहायता “ऊंट के मुंह में जीरा” के समान : संगम

इस समाचार को शेयर करें

पानापुर – इसुआपुर के बाढ-पीङितों के बीच बांटी राहत सामग्री

बांध-नहरों के किनारे शरणार्थियों के लिए संगम बाबा ने भगवान से मांगी दुआ

@संजीवनी रिपोर्टर
पानापुर / इसुआपुर (सारण) : पानापुर और इसुआपुर प्रखंड के आधा दर्जन बाढ प्रभावित गांवों के लोगों के बीच शुक्रवार को मुखिया संगम बाबा ने राहत सामग्री के रुप में चिऊरा, मीठा, बिस्किट के पैकेट व प्लास्टिक – तिरपाल का वितरण किया। संगम बाबा ने कहा कि बाढ़ पीङितों की हालत को देख ऐसे लग रहा है कि इन पर दुःखों का पहाङ टूट पङा है।

 

नहर, बांध व रेलवे लाईन के किनारे और जंगल – झारियों के समीप टेन्ट-तिरपाल डाले लोग भगवान से दुआ मांग रहे हैं कि जल्द हीं बाढ की मुसीबत से छुटकारा मिलें और ये लोग अपने घरों को लौटें। उसी में बच्चे-बुढे लोगों की तबियत भी बिगड़ रही है और ये लोग जैसे तैसे एक – एक रोज बनवास के रुप में काट रहे हैं।सरकारी सुविधाएं मानो ऊंट के मुंह में जीरा का फोरन का कहावत साबित हो रही है।

 

इस दौरान ऊंचे जगहों पर जहां – तहां रह रहे बाढ – पीङितों के बीच संगम बाबा ने आटा, चावल – दाल व कच्चा राशन भी उपलब्ध करवाया। मौके पर विकास यादव, सोनू पाण्डेय, मुकेश राय, राजदेव राय, राजू राय, सोनू राय, सरोज बाबा, पंकज बाबा, धर्मेन्द्र प्रसाद मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!