वज्रपात से दो महिलाओं समेत पांच की मौत, चार घायल

इस समाचार को शेयर करें

@संजीवनी रिपोर्टर
छपरा : जिले में तेज बारिश के दौरान की हुई घटना में जिले में एक किशोर तथा दो महिलाओं समेत पांच व्यक्तियों की मौत मंगलवार को दोपहर के समय हो गयी। जबकि दो महिलाओं समेत चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गये, जिन्हें इलाज के लिए अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। गरखा थाना क्षेत्र के महम्मदा बथानी गांव में वज्रपात के कारण एक साथ एक महिला व एक किशोर समेत तीन लोगों की मौत हो गयी, जिसमें कामेश्वर राय की पत्नी सरोज देवी (45 वर्ष), स्वर्गीय राम लाल राय के पुत्र ठाकुर राय (61 वर्ष) तथा बिहारी राय के 11 वर्षीय पुत्र विक्रम कुमार राय शामिल हैं। यह घटना उस समय हुई, जब महम्मदा बथानी गांव में कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने तथा बचाव के लिए सैंपल कलेक्शन करने मेडिकल टीम पहुंची थी और उस गांव में 150 व्यक्तियों का सैंपल कलेक्शन करने का लक्ष्य रखा गया था। 100 लोगों का सैंपल कलेक्शन करने के बाद तेज बारिश आ गई, जिसके बाद लोग आप पास की झोपड़ी में तथा लोगों के घरों में छिप गये। तेज बारिश के साथ आकाशीय बिजली गिरने से इन तीनों की मौत हो गयी। इस घटना के बाद वहां अफरा-तफरी मच गयी। मेडिकल टीम भी भाग खड़ी हुई। घटना की सूचना पाकर मौके पर पुलिस पहुंची और तीनों शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। इसकी सूचना पाकर अंचल पदाधिकारी भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने मृतकों के आश्रितों को तत्काल चार चार लाख रुपए का मुआवजा देने की प्रक्रिया शुरू कर दी। इस घटना के कारण गांव में मातम छा गया और तीनों मृतकों के परिजनों का रो-रोकर हाल बेहाल है। रो रही महिलाएं कह रही थी “भले कोरोना से मर जाते, लेकिन ऐसी दर्दनाक मौत सहन नहीं हो रही” । बताते चलें कि इस गांव में दो दिन पहले कोरोना वायरस के संक्रमण की शिकार एक महिला पाई गई थी, जिसके बाद इस पूरे गांव में रेंडम जांच के लिए जिला मुख्यालय से मेडिकल टीम को भेजा गया था । यह महज संयोग है कि जहां वज्रपात की घटना हुई, वहां तीन ही लोग छिपे हुए थे। आस-पास के झोपड़ी व घरों में काफी संख्या में लोग छिपे हुए थे। 100 लोगों का सैंपल कलेक्शन हो जाने के बाद भीड़ काफी कम हो गई थी। नहीं तो, स्थिति और भयावह होने की आशंका थी। दूसरी घटना गङखा प्रखंड के रामगढ़ा गांव की है, जहां खेत में काम कर रहे 53 वर्षीय रामायण साह की मौत हो गयी। जबकि दो अन्य व्यक्ति घायल हो गये, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है। तीसरी घटना मकेर प्रखंड के पश्चिम ठहरा गांव में हुई। वहां वज्रपात के कारण राजकुमार साह की 38 वर्षीय पत्नी निर्मला देवी की मौत हो गयी। इसी बीच पानापुर थाना क्षेत्र के भोरहा गांव में संतोष महतो के घर पर मंगलवार को अलसुबह आकाशीय बिजली गिरने के कारण दो महिलाएं चपेट में आ गयी, जिन्हें इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। आकाशीय बिजली मकान के छत को छेद कर घर के अंदर सो रही दोनों महिलाओं को अपनी चपेट में ले लिया। इस घटना में घर के सभी बिजली के तार व मीटर जल गये। इस घटना में तरैया थाना क्षेत्र के उसरी गांव निवासी रामाशंकर महतो की 36 वर्षीय पत्नी ललिता देवी और 60 वर्षीय रूपझड़ी देवी घायल हैं। दोनों महिलाएं संतोष महतो के घर शादी समारोह में भाग लेने के लिए दो दिन पहले आई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!