– कोचिंग डिपो कार्यालय में होने वाले कार्यों को देशभर में कहीं भी देख सकेंगे रेलवे अधिकारी

@संजीवनी रिपोर्टर
छपरा: पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा जंक्शन पर देश के पहला डाटा एनालिसिस सेंटर का उद्घाटन गुरुवार को किया गया। रेल महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी तथा मंडल रेल प्रबंधक विजय कुमार पंजियार की मौजूदगी में स्टेशन डायरेक्टर संजय कुमार शर्मा ने डाटा सेंटर का फीता काटकर उद्घाटन किया,

 

जबकि रेल महाप्रबंधक ने कंप्यूटर पर एनालिसिस सेंटर के कंप्यूटर का बटन दबाकर शुभारंभ किया। उन्होंने डाटा का अवलोकन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि देश का यह पहला स्टेशन है, जहां कोचिंग डिपो कार्यालय में डाटा एनालिसिस सेंटर खोला गया है, जिससे कोचिंग डिपो की सभी गतिविधियों को ऑनलाइन देश में कहीं से भी रेलवे अधिकारी अवलोकन कर सकते हैं। यहां उपलब्ध संसाधनों और प्रत्येक दिन होने वाले का कार्यों का भी मुख्यालय से बैठकर अवलोकन किया जा सकेगा।

 

उन्होंने बताया कि आपदा की स्थिति में इस डाटा एनालिसिस सेंटर के माध्यम से सभी रेल कर्मियों को अलर्ट करने की व्यवस्था है। दुर्घटना सहायता यान के लिए नामित रेल कर्मियों के पास ऑटोमेटिक कॉल जाएगा और वह जब तक कॉल रिसीव नहीं करेंगे, तब तक घंटी होते रहेगी। साथ ही उन्हें ऑटोमेटिक एसएमएस अलर्ट भी जाएगा।

साथ ही आपदा से निपटने के लिए उपलब्ध संसाधन को कभी भी देखा जा सकेगा। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि रेल दुर्घटना की स्थिति में रेल कर्मियों के मोबाइल पर इस सेंटर के माध्यम से तत्काल मैसेज भेजा जा सकेगा। यह अपने आप में अनूठा है। ऑटोमेटिक कॉल की विशेषता यह है कि संबंधित रेलकर्मी जब तक कॉल रिसीव नहीं करेंगे, तब तक उनके मोबाइल पर घंटी होती रहेगी।

 

इस मौके पर प्रमुख मुख्य यांत्रिक अभियंता अरविंद कुमार पांडेय, मुख्य कारखाना प्रबंधक तथा वरिष्ठ मंडल अभियंता (द्वितीय )और कोचिंग डिपो अधिकारी हरिशंकर कुमार, स्टेशन डायरेक्टर संजय कुमार शर्मा, स्टेशन प्रबंधक विनय कुमार, आरपीएफ इंस्पेक्टर अनिरुद्ध राय समेत स्थानीय स्तर के वह मंडल स्तर के सभी अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here