सारण के चार खाद बीज व्यवसायियों से स्पष्टीकरण पूछने का आदेश

इस समाचार को शेयर करें

– संयुक्त निदेशक (यांत्रिकरण) व जिला कृषि पदाधिकारी के निरीक्षण में दुकान बंद कर भागे चार दुकानदार

@संजीवनी रिपोर्टर
छपरा : जिले के नगर प्रखंड के चार खाद बीज व्यवसायियों के खिलाफ जिला कृषि पदाधिकारी ने स्पष्टीकरण पूछा है तथा एक सप्ताह के अंदर संतोषजनक जवाब नहीं देने पर कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। बताया जाता है कि रासायनिक उर्वरकों की कालाबाजारी तथा नकली खाद बीज के कारोबार रोकने के लिए राज्य मुख्यालय से प्रतिनियुक्त संयुक्त निदेशक (यांत्रिकरण) जयप्रकाश नारायण और जिला कृषि पदाधिकारी डॉक्टर के के वर्मा नगरा प्रखंड के खुदाई बाग तथा खैरा बाजार पहुंचे तो, 4 दुकानदार अपनी दुकान बंद कर फरार हो गये,

 

जिसमें खैरा के बिहार फर्टिलाइजर, विकास खाद बीज भंडार तथा पटेढ़ा के आनंद खाद बीज भंडार एवं धरती धन शामिल है। चारों दुकान मालिकों के खिलाफ जिला कृषि पदाधिकारी ने स्पष्टीकरण पूछे जाने का आदेश दिया है और एक सप्ताह में जवाब तलब किया है। उन्होंने चेताया है कि संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर चारों दुकानदारों की लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान दोनों पदाधिकारियों ने नगरा प्रखंड के साथ अन्य दुकानों की जांच की।

 

जहां सब कुछ संतोषजनक पाया गया। बताते चलें कि जिले में रासायनिक उर्वरक तथा बीज के कारोबार में अनियमितता बरतने के आरोप में 30 दुकानों का लाइसेंस रद्द किया जा चुका है। जबकि 64 दुकानदारों के खिलाफ स्पष्टीकरण पूछा गया है और उनके विरुद्ध जांच चल रही है। जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया कि सरकार के निर्देश के आलोक में खाद बीज के दुकानों की जांच के लिए जिला और राज्य स्तर पर टीम का गठन किया गया है और गठित टीम के द्वारा निरंतर जांच की जा रही है। इसका मुख्य उद्देश्य रसायनिक उर्वरक की कालाबाजारी रोकना तथा नकली खाद बीज का व्यवसाय करने वालों के खिलाफ नकेल कसना है।

Ranjit Kumar

Ranjit Kumar

Digital Media Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!