कोरोना संक्रमितों के इलाज का पूरा खर्च उठायेगी बिहार सरकार : नीतीश कुमार

इस समाचार को शेयर करें

@संजीवनी रिपोर्टर
पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के सभी डीएम और एसपी से कहा है कि वो अपने इलाके के जनप्रतिनिधियों के सहारे राज्य के एक-एक व्यक्ति की फीडबैक और राय लेकर कोरोना वायरस से निबटने की सरकार के प्रयास में तेजी लाएं. बुधवार को राज्य के सभी जन प्रतिनिधियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फीडबैक ली.सभी जिले के डीएम और एसपी की मौजूदगी में करीब तीन घंटे से अधिक चली वीडियो कांफ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस से डरने की जरूरत नहीं है. इसे विश्वव्यापी संकट बताते हुए कहा कि सरकार इसके लिए पूरे इंतजाम कर रही है. डरना नहीं है, सिर्फ सचेत रहना है. सचेत रहेंगे तो सुरक्षित रहेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार कोरोना से इलाज और जांच का पूरा खर्च उठायेगी. इसके लिए कोरोना उन्मूलन फंड भी बन गया है. राज्य सरकार द्वारा जो भी संभव होगा, वह सब किया जायेगा.

कोरोना फंड भी हो गया गठित
सीएम नीतीश ने कहा कि कोरोना वायरस के खात्में के लिए सरकार ने कोरोना उन्मूलन फंड का गठन किया है. इसमें सभी विधायक और विधान पार्षदों से सीएम एच्छिक कोष से पचास लाख रुपये लिये गये हैं. उन्होंने बताया कि सभी विधायक और एमएलसी को सरकार साल में तीन करोड़ रुपये की अनुशंसा का अधिकार दी गयी है. इसमें से प्रत्येक के एच्छिक कोष से कम से कम पचास लाख रुपये और कोई अधिक देने की इच्छा रखते हों तो और भी राशि इस कोष के लिए जी जा सकेगी.

आपदा प्रबंधन के लिए सौ करोड़ रुपये
सीएम ने कहा कि आपदा प्रबंधन के लिए सौ करोड़ रुपये दिये गये हैं. और भी जरूरत होगी तो वह भी देंगे. सीएम ने कहा कि एक व्यक्ति के चलते 11 लोग कोरोना पॉजिटिव हो गये. जिस गाड़ी में उन्हें लाया गया था, उस गाड़ी को चलाने वाले की भी जांच की भी होनी चाहिए. सीएम ने कहा कि गांवों से लोगों के फोन सीएम आवास के नंबर पर आ रहा है. सारे लोगों को अवेयरनेस की जरूरत है.

Ranjit Kumar

Ranjit Kumar

Digital Media Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!