श्रावस्ती की राधा ने दुनिया भर में परचम लहराया

इस समाचार को शेयर करें

– लॉकडाउन में “आ रई,रई…..गीत हुई थी हीट

-स्टार प्लस और टीवी शो में बड़े-बड़े कलाकार कर चुके है प्रशंसा, उषा मंगेश्कर ने भी की थी तारीफ

@गुड्डू राय
अगर हौसला बुलंद हो तो, बाधा भी आपका मार्ग नहीं रोक सकती है। अपनी आवाज व काबलियत के बदाैलत एक पिछड़े इलाके से आने वाली गायिका राधा श्रीवास्तव दुनिया की पटल पर छा गई है।  उत्तर प्रदेश के सबसे पिछड़े श्रावस्ती जिले के सिरसिया ब्लॉक के सेमरा” गांव निवासी राधा श्रीवास्तव अपने खास आवाज से देश ही नहीं विदेशों में जलवा बिखेर रही है।  टीवी के परदे पर अपने हुनर का लोहा मनवाने वाली श्रावस्ती की राधा श्रीवास्तव स्टार प्लस चैनल के रियलिटी शो ‘दिल है हिन्दुस्तानी 2’ के टॉप-4 में नाम दर्ज करा चुकी है।

 

उनकी इस कामयाबी के लिए श्रावस्ती पहुंचने पर लोगों ने सम्मान समारोह का आयोजन कर उन्हें सम्मानित किया था।  आज जिले का हर वह इंसान जो टेलीविजन से जुड़ा है। उसकी जुबान पर राधा-दिव्यांश की सुपर जोड़ी का ही नाम है। राधा श्रीवास्तव अपने पति के साथ आवाज देकर सोशल मीडिया में खुब छाई हुई है। लॉक डाउन में लोगों के लिए सबसे चर्चित गायिका में रही। उस दौरान आ रई रई रई…गीत की खुब धूम रही।

लड़कियों के लिए मिसाल बनीं राधा…
अति पिछड़े गांव सिरसिया के सेमरा नौशहरा की रहने वाली राधा श्रीवास्तव लड़कियों के लिए मिसाल है। आज भी इनके गांव में रोशनी नहीं है, रास्ते नहीं हैं, लेकिन राधा इस समय अपने गांव के लिए किसी रोशनी से कम नहीं है। इस दौरान श्री मिश्र ने कहा कि इस छोटे से जिले और अति पिछड़े ग्रामीण क्षेत्र से निकल कर राधा ने जो मुकाम हासिल किया है वह अपने आप में एक मिसाल है। राधा आज जिले के हर महिलाओं के लिए उदाहरण बन चुकी है।

 

पिता ने किताबी ज्ञान के साथ संगीत का भी ज्ञान दिया
पिता शिव सहाय श्रीवास्तव जो जूनियर स्कूल के प्रधानाध्यापक है वहीं राधा के प्रथम गुरू भी हैं। पिता ने बचपन से ही अपनी बेटी को किताबी ज्ञान के साथ संगीत का भी ज्ञान दिया। जिससे राधा ने संगीत को ही अपनी दुनिया बना ली। कड़ी मेहनत, पिता का त्याग और सहयोग आज राधा को हर कामयाबी की कड़ी से जोड़ता जा रहा है। राधा आज ऐसे मुकाम पर पहुंच गयी है जो लड़कियों के लिए एक मिसाल है।

काफी धरातल से ऊपर उठी है राधा
पहले जहां राधा ने भोजपुरी मंच रंग पुरवइया में अपना हुनर दिखाया तो आज वह स्टार प्लस के सबसे बड़े रियलिटी शो ‘दिल है हिन्दुस्तानी 2’ में टॉप-4 में पहुंच गयी । राधा के चाचा राकेश श्रीवास्तव कहते है कि राधा को बचपन से ही संगीत में बहुत रुचि थी लेकिन हमने कभी ये नही सोचा था कि वो इतने बड़े मुकाम तक पहुंचेगी। अक्सर गांव में किसी को क्रिकेट, किसी संगीत में रुचि होती है

लेकिन वह गांव या फिर जिले तक ही सिमट कर रह जाती है। लेकिन राधा की मेहनत और पिता का सहयोग आज राधा को कामयाबी के शिखर तक पहुंचा दिया है। राधा के शिक्षक रहे योगेश शुक्ल कहते है कि राधा का मन हमेशा संगीत में लगता था। हम सब का यही आशीर्वाद है कि वह ऐसे ही कामयाबी की ओर बढ़ती रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!