हिंदी दिवस पर खूब बही कविताओं की रसधार

इस समाचार को शेयर करें

@निक्की शर्मा “रश्मि”
सतना : हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में सतना मध्य प्रदेश के ‘शारदे काव्य संगम’ संस्था की ओर से ऑनलाइन कवि-सम्मेलन का आयोजन किया गया। अध्यक्षता प्रसिद्ध कवि अवधराम गुरु ने की । सुप्रसिद्ध कवयित्री वर्षा तिवारी ने सरस्वती की वंदना पेश की । संचालन कल्पना भदौरिया स्वप्निल ने किया। संस्था के संरक्षक कृष्ण चतुर्वेदी, अध्यक्ष -निक्की शर्मा ‘रश्मि’, संस्थापक- रोहित चौरसिया, विशिष्ट अतिथि- अमरप्रीत कौर,

 

उपाध्यक्षा- अमरप्रीत कौर, सह-संचालिका- शिल्पी शहडोली , मुख्य सचिव -ज्योति सिंह गुर्जर ,आयोजक -शैलेन्द्र पयासी ने चयनित 32 कवियों की रचनाएं सुनी तथा स्वयं अपनी कविताओं का काव्यपाठ भी किया। अंत में अध्यक्ष अवधराम गुरु ने “तन-मन पुलकित हो गया,सुनकर अद्भुत छंद।
स्वप्निल जी के हाथ से, संगम होता बंद। संगम होता बंद,थोड़ी-सी बस रह गई देरी। युग-युग तक चलती रहती कविताओं की फेरी। कहत सुकवि अवधेश कविता समझे जन-जन। कवियों का आभार, कराते पुलकित तन-मन… पेश कर समापन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!